थप्पड़ गर्ल के बाद अब आया चप्पल गर्ल का वीडियो

रायबरेली : लखनऊ की थप्पड़ गर्ल प्रियदर्शिनी के बाद अब सोशल मीडिया पर एक और लड़की का वीडियो वायरल हो रहा है जिसे यूजर्स ‘चप्पल गर्ल’ का नाम दे रहे हैं। हालांकि प्रियदर्शिनी की तरह इस बार इस घटना की निंदा नहीं की जा रही, बल्कि लोग चप्पल गर्ल की सराहना कर रहे हैं। वायरल हो रहा वीडियो उत्तर प्रदेश के रायबरेली जिले का है। यहां जिले की एक बेटी ने सोमवार को कुछ ऐसा कर दिखाया जो दूसरी बेटियों के लिए नजीर बन गई। मोबाइल नंबर मांगने पर उसने एक सिरफिरे को न सिर्फ सबक सिखाया बल्कि बीच चौराहे पर चप्पलों से जमकर धुनाई कर दी। यही नहीं, मनचले को पीटने के बाद युवती ने उसे हिदायत भी दी कि दोबारा ऐसी हरकत की तो एफआईआर दर्ज करा देंगे। बीच चौराहे जिस तरह बेटी ने साहस का परिचय दिया, उसके सभी कायल हो गए। सभी ने बेटी की प्रशंसा की और कहा कि हर बेटी को इसी तरह मनचलों से मुकाबला करना चाहिए।

दरअसल, डलमऊ कोतवाली क्षेत्र के घुरवारा के पास की रहने वाली करीब 15 वर्षीय ज्योति एक मामले में तारीख पर डलमऊ तहसील गई थी। बताते हैं कि उसके पिता का निधन हो चुका है। घर संभालने की जिम्मेदारी उसी के कंधों पर है। वह पैदल ही तहसील से घर जा रही थी। इसी दौरान एक अन्य समुदाय का युवक उसके पास पहुंचा और मोबाइल नंबर मांगने लगा। नंबर न देने पर परेशान करने लगा।

पहले तो बेटी ने उसे समझाया लेकिन जब युवक नहीं माना तो वह आपा खो बैठी। घुरवारा चौराहा पर उसने चप्पल उतारा और युवक को पीटने लगी। अचानक बीच चौराहे पर युवक को पिटता देख लोग दंग रह गए। लोग पहुंचे तो बेटी का जवाब था कि युवक उसे परेशान कर रहा था। चंद कदम दूरी पर पुलिस थी लेकिन उन्हें बेटी के साथ हुई इस घटना की भनक तक नहीं लगी। बेटी की बात जानकर लोगों ने भी युवक को धमकाया, इस पर वह मौके से फरार हो गया। इस दौरान सभी ने बेटी के साहस को सलाम किया और कहा कि हर बेटी को इसी तरह मनचलों को सबक सिखाना चाहिए।

मिशन शक्ति अभियान की नोडल अधिकारी रेखा सिंह का कहना है कि बेटियों को जागरूक करने के लिए जिले में मिशन शक्ति अभियान चलाया जा रहा है। इसका मकसद महिलाओं को न्याय दिलाना है। वूमेन पावर लाइन 1090, महिला हेल्पलाइन 181, एंबुलेंस सेवा 108, मुख्यमंत्री हेल्पलाइन 1076, पुलिस आपातकालीन सेवा 112, चाइल्ड हेल्पलाइन 1098 आदि नंबरों पर फोन करके बेटियां और महिलाएं किसी भी समय मदद ले सकती हैं। महिलाएं शिक्षित बनें। अपने अधिकारों को जानें। डरें नहीं, डटकर मुकाबला करें।

अपर पुलिस अधीक्षक विश्वजीत श्रीवास्तव ने बताया कि डलमऊ कोतवाली क्षेत्र की रहने वाली एक किशोरी से सिरफिरा युवक मोबाइल नंबर मांग रहा था। इस पर किशोरी ने युवक की पिटाई कर दी। यदि किशोरी की तरफ से कोई तहरीर दी जाएगी तो रिपोर्ट लिखकर कार्रवाई की जाएगी। बेटियां जागरूक बनें। किसी से डरें नहीं। पुलिस उनकी मदद के लिए हर समय तत्पर है।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

खिलाड़ी हूं, खेलना मेरा जुनून है, जो मौका देगा उसका साथ दूंगा : बाबुल

बाेले, जिसने प्ले 11 में खेलने का मौका दिया वहां खड़ा हूं मेरे लिए ममता बनर्जी ही लोकप्रिय हैं सुकांत को भावी योजनाओं के लिए शुभकामनाएं सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता आगे पढ़ें »

ऊपर