तेजी से बूढ़ी हो रही है दुनिया, 2050 तक इतनी हो जायेगी बुजुर्गों की आबादी

नई दिल्ली : विश्व जनसंख्या दिवस पर आई संयुक्त राष्ट्र (यूएन) की एक रिपोर्ट की मानें तो दुनिया तेजी से बूढ़ी होती जा रही है। इस संबंध में यूएन द्वारा जारी रिपोर्ट में बताया गया है कि‌ विकसित देशों के लिए बुजुर्गों की बढ़ती आबादी काफी बड़ी समस्या है। साथ ही यह भी बताया गया है कि पहली बार 65 साल से अधिक उम्र के बुजुर्गों की तादाद 5 साल तक की उम्र के बच्चों की तादाद को पछाड़ कर आगे बढ़ गई है। बुजुर्गों की बढ़ती तादाद को देखते हुए ऐसा अनुमान हैं कि 2050 तक बुजुर्गों की आबादी बच्चों से दोगुनी हो जाएगी। उस समय बुजुर्गों की जनसंख्या 210 करोड़ के आस-पास होगी। वहीं देश में बढ़ रही जनसंख्या के आधार पर माना जा रहा है कि भारत 2027 तक चीन को पछाड़ कर आगे निकल जाएगा।
259 सालों से चीन इस मामले में है आगे
मालूम हो कि 259 सालों से चीन जनसंख्या के मामले में भारत से आगे है। जनसांख्यिकी विशेषज्ञ पिछले कई दशकों से बढ़ती आबादी के विभिन्न पहलुओं के रुझान पर नजर रखे हुए हैं। ‘हिस्ट्री डेटाबेस ऑफ द ग्लोबल एनवॉयरमेंट’ रिपोर्ट बताती है कि पिछले 12 साल में अन्य देशों के मुकाबले चीन और भारत में जन्म दर 49.7 फीसदी रहा। आंकड़ों के मुताबिक ईसा पूर्व 4440 से 1760 ईसवी तक भारत की आबादी चीन के मुकाबले अधिक थी। वहीं मैक्सिको की बात करें तो ईसा पूर्व 10 हजार साल तक यहां सर्वाधिक आबादी थी। उसके बाद ईसा पूर्व 5050 में चीन आबादी के मामले में मैक्सिको को पछाड़ कर आगे बढ़ गया। रिपोर्ट के अनुसार अब तक पूरी दुनिया में 10 हजार करोड़ लोग जन्म ले चुके हैं, जिनमें से अब तक 6.9 प्रतिशत लोग जीवित हैं। बता दें कि 1800 ईसवी में पूरी दुनिया में 100 करोड़ जनसंख्या पहुंची थी।
दुनिया का हर 11वां शख्स बुजुर्ग है
जनसांख्यिकी विशेषज्ञों के अनुसार 2019 में पूरी दुनिया में जनसंख्या का आंकड़ा 770 करोड़ के आस-पास है। इन आंकड़ों की 37 फीसदी जनसंख्या चीन और भारत जैसे विकसित देशों में है। दुनिया की कुल आबादी में चीन की जनसंख्या 19 फीसदी और भारत में 18 फीसदी है। वहीं दुनिया में बुजुर्गों की बढ़ती तादाद को देखते हुए उनका एक आंकड़ा निकाला गया। जिसमें पाया गया कि दुनिया का हर 11वां शख्स बुजुर्ग है। बुजुर्गों की बढ़ती आबादी को देखते हुए अनुमान लगाया जा रहा है कि 2050 तक हर छठा शख्स बुजुर्ग होगा। साथ ही ऐसा माना जा रहा है कि तब दुनिया में बुजुर्गों की संख्या किशोरों से ज्यादा होगी। पूरी दुनिया में बुजुर्गों के मुकाबले बच्चों की जनसंख्या के आंकड़ों में कमी देखने को मिली है।
लोगों की बढ़ती आबादी आर्थिक समस्या
दुनिया में बढ़ती जनसंख्या को देखते हुए संयुक्त राष्‍ट्र ने आंकड़ों का एक रिपोर्ट तैयार किया है। इस रिपोर्ट में कहा गया है कि दुनिया कि आबादी 2030 तक 850 करोड़, 2050 तक 970 करोड़ और 2100 तक 1090 करोड़ तक होने का अनुमान है। बढ़ती जनसंख्या पर अमेरिकी वैज्ञानिक पीटर वार्ड का कहना है कि लोगों को आर्थिक समस्या से निपटने के लिए धरती के हर कोने पर खेती करनी पड़ेगी।
भारत के राज्यों में जनसंख्या के आंकड़ों में गिरावट
बता दें कि पूरी दुनिया के मुकाबले भारत में बच्चों के आंकड़ों में गिरावट देखने को मिल रही है। पूरी दुनिया के मुकाबले भारत के सभी राज्यों में बच्चों की जन्म दर बढ़ने के बजाए घटकर 2.1 फीसदी पर आ गयी हैं। साथ ही भारत में कुल आबादी के वृद्धि दरों में भी‌ गिरावट देखने को मिली है। विशेषज्ञों का मानना है कि 2031 तक यहां आबादी के बढ़ने की दर एक फीसदी घट जाएगी। उनके अनुसार यदि ऐसा ही रहा तो अगले 10 सालों में यह दर महज 0.5 फीसदी पर सिमट कर रह जाएगी। वहीं उनका यह भी मानना है कि साल 2050 तक 42.6 करोड़ भारतीयों की उम्र 80 साल से अधिक होगी और उस वक्त भारत में हर सातवां व्यक्ति 65 साल से ‌‌अधिक का होगा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

maharashtra

महाराष्ट्र : 5.5 लाख बाढ़ पीड़ितों को दिए जाएंगे डुप्लीकेट मतदाता पहचान पत्र, अगले महीने है चुनाव

पुणे : महाराष्ट्र में अगले महीने होने वाले विधानसभा चुनाव को देखते हुए कोल्हापुर और सांगली जिला प्रशासन ने एक महत्वपूर्ण फैसला लिया है। प्रशासन आगे पढ़ें »

तिहाड़ जेल में चिदंबरम से मिलने पहुंचे सोनिया और मनमोहन, चिदंबरम ने कहा हिम्मत नहीं हारूंगा

नयी दिल्‍ली : पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने आईएनएक्स मीडिया मामले में गिरफ्तार पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम के प्रति आगे पढ़ें »

ऊपर