तेजस्वी के नेतृत्व में आगामी विधानसभा चुनाव लड़ेगा राजद

राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में शामिल हुए तेजस्वी यादव

पटना : राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के नेता शिवानंद तिवारी के ललकारने के बाद शनिवार को पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में तेजस्वी पहुुंचे। दोनों भाईयों के साथ राबड़ी देवी और मीसा भारती भी बैठक में मौजूद रहीं। राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में लोकसभा चुनाव में राजद को मिली करारी शिकस्त और आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर रणनीति पर विशेष चर्चा हुई जिसमें तेजस्वी यादव ने कहा कि राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक हर पार्टी की परंपरा होती है। कार्यकारिणी की बैठक किसी भी दल के लिए महत्वपूर्ण होती है। ये हमारी पार्टी की बैठक है, इसमें हम मिल-जुलकर बात करेंगे। पार्टी में परेशानी को दूर किया जाएगा।

बजट में बिहार के लिए कुछ नहीं : राजधानी के एक होटल में आयोजित पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में शामिल होने पहुंचे नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने बजट को लेकर केंद्र सरकार पर जमकर निशाना साधा। तेजस्वी ने कहा कि बिहार के साथ धोखा हुआ है, बजट में देश के लोगों और खासकर बिहार के लिए कुछ नहीं है। बिहार के लोगों को बजट से बहुत उम्मीद थी। रेलवे के लिए भी बजट में कुछ भी नहीं है।

बैठक में हुआ निर्णय, तेजस्वी होंगे अगले मुख्यमंत्री उम्मीदवार : पार्टी सांसद जयप्रकाश नारायण यादव ने बैठक में घोषणा की कि तेजस्वी यादव ही पार्टी के नेता होंगे। उनके नेतृत्व में ही पार्टी आगामी विधानसभा चुनाव लड़ेगी। उन्होंने कहा कि तेजस्वी यादव ही राजद की ओर से मुख्यमंत्री के उम्मीदवार होंगे। वहीं, पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष रामचंद्र पूर्वे ने भी ऐलान करते हुए कहा कि तेजस्वी यादव के ही नेतृत्व में 2020 का विधानसभा चुनाव लड़ा जायेगा।

स्थापना दिवस पर नहीं पहुंचे तेजस्वी : मालूम हो कि शुक्रवार को आरजेडी के प्रदेश कार्यालय में आयोजित पार्टी के 23वें स्थापना दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में तेजस्वी यादव के नहीं पहुंचने पर काफी किरकिरी हुई थी। पार्टी नेता राबड़ी देवी कार्यक्रम का उद्घाटन करने के लिए दोनों बेटों तेज प्रताप यादव और तेजस्वी यादव का इंतजार किया। तेजप्रताप तो आए लेकिन तेजस्वी नहीं पहुंचे थे।

शेयर करें

मुख्य समाचार

लोगों में पीओके की आजादी के लिये ‘जुनून’ है : ठाकुर

जम्मू : केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने सोमवार को कहा कि जम्मू-कश्मीर के विशेष दर्जे को समाप्त करने के बाद पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर आगे पढ़ें »

पिछले पांच-छह साल में बढ़े हैं दलितों पर अत्याचार : प्रशांत भूषण

नयी दिल्ली : भीम आर्मी द्वारा आयोजित संवाददाता सम्मेलन में सामाजिक कार्यकर्ता व वकील प्रशांत भूषण ने सोमवार को आरोप लगाया कि पिछले पांच-छह साल आगे पढ़ें »

ऊपर