आतंकवादियों को अलग-थलग करने पर ध्यान केंद्रित कर रही है कश्मीर पुलिस : डीजीपी

श्रीनगर : जम्मू-कश्मीर से धारा 370 के हटाए जाने के बाद से ही सरकार और पुलिस वहां शांति बनाए रखने की कोशिश में जू‌टी है। जम्मू-कश्मीर पुलिस के महानिदेशक दिलबाग सिंह ने कहा कि यहां की पुलिस आतंकवादियों पर निरंतर दबाव बना कर उन्हें अलग-थलग करने का प्रयास कर रही है ताकि वे आम लोगों को बहका नहीं सकें। सिंह ने लोगों के सहयोग के लिए धन्यवाद किया।

सुरक्षा टीमों ने किया शानदार काम

साक्षात्कार में सिंह ने कानून-व्यवस्था बनाए रखने में राज्य के लोगों के सहयोग के लिए उनका धन्यवाद किया। उन्होंने कहा कि ‘‘पुलिस, अर्द्धसैनिक बलों और सेना को सम्मिलित कर बनाई गई सुरक्षा टीमों ने शानदार काम किया है, लेकिन हमें राज्य के लोगों की तरफ से दिए गए सहयोग को भी नजरअंदाज नहीं करना चाहिए।’’ बता दें कि जम्मू कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 के प्रावधानों को 5 अगस्त को केंद्र की ओर से निरस्त किए जाने के बाद राज्य में सुरक्षा बलों की मौजूदगी बढ़ा दी गई थी और कड़ी पाबंदिया लगाई गईं।

संवैधानिक परिवर्तनों पर टिप्पणी से इनकार

साल 1987 बैच के आईपीएस अधिकारी सिंह ने राज्य में किए गए संवैधानिक परिवर्तनों पर टिप्पणी करने से इनकार कर दिया लेकिन कहा, ‘‘मेरा मानना है कि राज्य में सकारात्मक विकास के युग की शुरुआत हो रही है। और लोगों को इसके बारे में अच्छी चीजों को समझना चाहिए।’’ उन्होंने कहा कि पुलिस बल के प्रमुख के तौर पर यह सुनिश्चित करना उनका कर्तव्य है कि कुछ गिने-चुने आतंकवादी जो मुख्यत: पाकिस्तान से हैं, उन्हें जम्मू कश्मीर के आम लोगों को बहकाने न दिया जाए। सिंह ने कहा, ‘‘हमारी आतंकवाद रोधी इकाई इन आतंकवादियों को दूर रखने का दबाव बनाए हुए है और निश्चित तौर पर हम ऐसा कर पाएंगे।’’

शेयर करें

मुख्य समाचार

sonakshi

रामायण से जुड़े एक आसान सवाल का जवाब न दे पायीं सोनाक्षी, जमकर हुईं ट्रोल

मुंबई : बॉलीवुड अभिनेत्री सोनाक्षी सिन्हा शुक्रवार को कौन बनेगा करोड़पति के 11 वें वीकली एपिसोड 'कर्मवीर' में नजर आईं। इस एपिसोड में राजस्‍थान के आगे पढ़ें »

Azam Khan

आजम खान की दिगवंत मां के खिलाफ मामला दर्ज, फांसीघर की जमीन खरीद-फरोख्त का आरोप

  रामपुर : ‌उत्तर प्रदेश की रामपुर लोकसभा सीट से समाजवादी पार्टी (एसपी) के सांसद आजम खान पर आफत की बारिश रुकने का नाम ही नहीं आगे पढ़ें »

ऊपर