झारखंड में अब सरकारी जमीनों पर सरकार की अनुमति के बिना निर्माण कार्य नहीं होगा : हेमंत सोरेन

दुमका : झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने शनिवार को यहां कहा कि अब राज्य में सरकारी जमीनों पर सरकार की अनुमति के बिना कोई निर्माण कार्य नहीं होगा।
हेमंत सोरेन ने गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर आयोजित एक कार्यक्रम में दुमका में विभिन्न विभागों के अधिकारियों से स्पष्ट कहा कि वे शहरों में खाली पड़ी सरकारी जमीन, पुरानी और जर्जर सरकारी इमारतों की सूची सरकार के पास भेज दें और यह सुनिश्चित करें कि अब किसी भी हाल में सरकारी जमीनों पर सरकार की अनुमति के बिना निर्माण कार्य नहीं होगा। राज्य के लोगों को गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं देते हुए उन्होंने कहा, ‘इस दिवस को एक संकल्प के रूप में लें ताकि आपके सहयोग से हम चुनौतियों को एक अवसर के रूप में स्वीकार कर झारखंड को एक बेहतर और विकसित राज्य बना सकें।’ मुख्यमंत्री ने यह संकल्प दोहराया है कि राज्य के शहरों को कंक्रीट का जंगल नहीं बनने देंगे। शहरों को हरा भरा बनाएंगे और साफ सुथरा भी रखेंगे। मुख्यमंत्री ने इसके लिए आम लोगों से भी अपनी जिम्मेदारी निभाने का आग्रह किया। उन्होंने कहा कि अगर लोग एकजुट रहेंगे तो यहां के सौहार्द्र को कोई नहीं बिगाड़ सकता है।

कहा : हमने चुनौतियों को स्वीकारा है, इसे अवसर के रूप में लिया है
झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने शनिवार को यहां कहा कि इतिहास इस बात का गवाह है कि हम चुनौतियों का सामना करते हुए लगातार आगे बढ़ते रहे हैं और इस बार भी चुनौतियों को स्वीकारा है, इसे एक अवसर के रूप में लिया है।
मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने दुमका में गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर ‘स्विमिंग पुल’ के उद्घाटन कार्यक्रम में लोगों को संबोधित करते हुए यह बात कही। उन्होंने कहा, ‘हम हर चुनौती को अवसर में बदलेंगे। अभी तो शुरुआत है। कई काम किए जाने हैं। हम पूरी ईमानदारी के साथ विकास योजनाओं को पूरा करेंगे ताकि हम झारखंड के लोगों के सपनों का झारखंड बना सकें।’ हेमंत सोरेन ने कहा कि राज्य के विकास के लिए जहां बात रखने की जरूरत होगी, उस मंच पर उसे रखा जाएगा। जहां काम करने की जरूरत है। वहां सिर्फ काम पर ध्यान केंद्रित होगा। उन्होंने कहा कि सरकार लोकलुभावन वादों में विश्वास नहीं करती बल्कि अपने इरादों को हकीकत में बदलने की बात करती है। मुख्यमंत्री ने कहा कि दुमका उनकी कर्मभूमि रही है, लेकिन दुर्भाग्य से यह इलाका आज भी बहुत पिछड़ा है। संथाल परगना इलाके का विकास उनकी प्राथमिकता में है। इस दिशा में स्विमिंग पुल का उद्घाटन एक शुरुआत है। उन्होंने कहा कि आने वाले दिनों में यहां लोगों को सभी जरूरी बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएंगी और क्षेत्र के विकास के लिए योजनाओं को अमलीजामा पहनाया जाएगा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

भारत- न्यूजीलैंड अभ्‍यास मैच ड्रा, अग्रवाल व पंत फार्म में लौटे

हैमिल्टन : मयंक अग्रवाल ने रविवार को यहां भारत के न्यूजीलैंड एकादश के खिलाफ ड्रा हुए अभ्यास मैच में अपने जन्मदिन के मौके पर रन आगे पढ़ें »

सिलेक्टर चयन : बीसीसीआई के इनबॉक्स से शिवरामाकृष्णन का आवेदन डिलीट

नयी दिल्‍ली : पूर्व भारतीय क्रिकेटर लक्ष्मण शिवरामाकृष्णन ने भारतीय टीम के मुख्‍य चयनकर्ता के लिए बीसीसीआई के ई-मेल पर जो आवेदन भेजा था, वह आगे पढ़ें »

टीम इंडिया ऑस्ट्रेलिया व इंग्लैंड के खिलाफ पिंक बॉल से डे-नाइट टेस्ट को तैयार : गांगुली

modi & trump

केम छो ट्रंप कार्यक्रम का नाम बदलकर हुआ नमस्ते ट्रंप

delhis

जामिया समिति ने छात्रों पर हमला कर रहे अर्द्धसैनिक बलों का वीडियो जारी किया

rakul sunny

रकुल प्रीत ने लिया अपने जीवन का सबसे बड़ा फैसला, सनी लियोन ने खाई ये कसम

bigg boss

‘बिग बॉस 13’ के विजेता बने सिद्धार्थ शुक्ला, लगा बधाइयों का तांता

modis

हम सीएए और अनुच्छेद 370 से जुड़े अपने फैसलों पर कायम हैं और रहेंगे : पीएम मोदी

himalaya

सेटेलाइट फोन से होगी हिमालय क्षेत्र में सैलानियों की त्वरित चिकित्सा सहायता सेवा

delhi

केजरीवाल के शपथ ग्रहण समारोह में पहुंचे भाजपा विधायक, आगे बैठने के लिए नहीं मिली कुर्सी

ऊपर