झारखंड का नहीं हो पाया पूर्ण विकास : चिराग पासवान

गिरिडीह : लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं बिहार में जमुई से सांसद चिराग पासवान ने किसी राजनीतिक पार्टी का नाम लिए बगैर कहा कि कुछ ऐसे दल हैं, जो जाति-धर्म और क्षेत्र के आधार पर लोगों को बांटने में लगे रहे, जिसके कारण झारखंड का जितना विकास होना चाहिए था, नहीं हो पाया।
चिराग पासवान ने यहां झंडा मैदान में पार्टी प्रत्याशी उपेंद्र शर्मा के पक्ष में आयोजित चुनावी सभा को संबोधित करते हुए कहा कि कुछ राजनीतिक दल धर्म-जाति और क्षेत्र के आधार पर लोगों को बांटने का काम करते रहे हैं, जिसके कारण झारखंड का जितना विकास होना चाहिए था नहीं हो पाया। उन्होंने दावा किया कि लोजपा धर्म और जाति की राजनीति नहीं करती है बल्कि सभी वर्गों को साथ लेकर विकास की राजनीति करने में विश्वास करती है। लोजपा अध्यक्ष ने कहा कि आज भी झारखंड विकास की बाट जोह रहा है। आज भी झारखंड के युवा रोजगार और शिक्षा के लिए दूसरे राज्यों की ओर पलायन कर रहे हैं। दिल्ली हो या मुंबई रोजगार के लिए झारखंड के युवा भटकते नजर आते हैं लेकिन दिल्ली या मुंबई का एक भी युवक झारखंड में रोजगार या शिक्षा के लिए नहीं आता है। चिराग पासवान ने जनता से 16 दिसंबर 2019 को जाति और धर्म के नाम पर नहीं बल्कि विकास के नाम पर मतदान करने की अपील करते हुए कहा कि 16 दिसंबर को आपके द्वारा किया गया मतदान आने वाले पांच वर्षों के भविष्य को निर्धारित करेगा। उन्होंने कहा कि विकास की राजनीति करने वाली पार्टी लोजपा के प्रत्याशी उपेंद्र शर्मा के पक्ष में मतदान करें। जनसभा को संबोधित करते हुए लोजपा के वरिष्ठ नेता सूरजभान सिंह ने कहा कि क्षेत्र के विकास के लिए लोजपा कटिबद्ध है और पार्टी के सभी प्रत्याशी पूरी निष्ठा के साथ चुनाव लड़ रहे हैं। उन्होंने कहा कि यदि जनता का आशीर्वाद लोजपा प्रत्याशी को मिला तो वे क्षेत्र के विकास के लिए कोई कसर नहीं छोड़ेंगे। वहीं, लोजपा प्रत्याशी उपेंद्र शर्मा ने कहा कि वह इस क्षेत्र की जनता के लिए और क्षेत्र के विकास के लिए चुनाव लड़ रहे हैं। गौरतलब है कि गिरिडीह समेत 15 विधानसभा सीटों पर चौथे चरण में 16 दिसंबर 2019 को मतदान होना है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

जनजातियों की कला-संस्कृति, परंपरा एवं रीति-रिवाज समृद्ध : द्रौपदी मुर्मू

रांची : झारखंड की राज्यपाल सह कुलाधिपति द्रौपदी मुर्मू ने शुक्रवार को कहा कि जनजातियों की कला, संस्कृति, लोक साहित्य, परंपरा एवं रीति-रिवाज समृद्ध रही आगे पढ़ें »

अत्यधिक प्रोटीन लेना हो सकता है जानलेवा: रिपोर्ट

नई दिल्ली : स्वस्थ रहने की बात हो तो सबसे पहले प्रोटीन लेने की सोचते हैं। प्रोटीन से मांसपेशियां मजबूत होती है और साथ ही आगे पढ़ें »

ऊपर