झारखंडः आजीवन कारावास की सजा काट रहे 139 बंदी रिहा

soren

रांचीः झारखंड के मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन के नेतृत्व में राज्य सरकार ने राज्य के पांच केंद्रीय कारागार, एक मंडल कारा एवं एक खुली जेल सह पुनर्वास कैम्प में आजीवन कारावास की सजा काट रहे 139 बंदियों को रिहा करने को लेकर शनिवार को स्वीकृति दे दी। आधिकारिक प्रवक्ता ने बताया कि मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की अध्यक्षता में राज्य सजा पुनरीक्षण परिषद की बैठक में इन 139 कैदियों को रिहा करने की स्वीकृति दी गयी।

इसलिए किया गया रिहा

उन्होंने बताया कि आजीवन कारावास की सजा पाए बंदियों को लंबी सजा अवधि बीत जाने और कारागार में उनके बेहतर आचरण, उनके उम्र और उनके द्वारा किये गए अपराध की प्रकृति आदि के आधार पर रिहा करने का निर्णय लिया गया। मुख्यमंत्री की स्वीकृति मिलते ही अब ये सभी बंदी अपने परिवार वालों के साथ रह सकेंगे।

सीएम ने दिया यह संदेश

मुख्यमंत्री सोरेन ने यह अपील की कि रिहा हो रहे बंदी नये सिरे से अपनी जिंदगी शुरू करते हुए देश, राज्य, समाज और अपने परिवार के प्रति अपनी महती जिम्मेदारी का निर्वहन करें। झारखण्ड राज्य सजा पुनरीक्षण परिषद ने शनिवार को बिरसा मुंडा केंद्रीय कारा, होटवार के 62, लोकनायक जयप्रकाश नारायण केंद्रीय कारा, हजारीबाग के 26, केंद्रीय कारा, दुमका के 29, केंद्रीय कारा, घाघीडीह, जमशेदपुर के 14, केंद्रीय कारा, मेदिनीनगर, पलामू के 4, मंडल कारा, चाईबासा के 3 और खुला जेल-सह-पुनर्वास कैम्प हजारीबाग के 1 आजीवन कारावास की सजा काट रहे बंदी को रिहा करने की स्वीकृति दी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

‘ दिल्ली व मुम्बई सहित 6 शहरों की उड़ान इस सप्ताह तक अपरिवर्तित ’

  कोलकाता : अक्टूबर महीने के पहले सप्ताह तक दिल्ली व मुम्बई सहित 6 शहरों की उड़ानों के लिए सितंबर का शेड्यूल ही फॉलो किया जाएगा। आगे पढ़ें »

सुशांत को नहीं दिया गया था जहर, एम्स ने किया दावा

नई दिल्ली: एम्स के मेडिकल पैनल द्वारा सीबीआई को सौंपी गई रिपोर्ट ने यह स्पष्ट कहा है कि सुशांत सिंह राजपूत को जहर नहीं दिया आगे पढ़ें »

ऊपर