जलप्रलय में 43 की मौत, बारिश थमी … मगर खतरा अब भी बरकरार

पटनाः बिहार के राजधानी व अन्य जिलों में आफत की बारिश थम गई है। मगर, खतरा अब भी नहीं टला है। मौसम छाया हुआ है। बारिश भी हो सकती है।
इस जल प्रलय में अभी तक करीब 43 लोगों की मौत हो चुकी है। बारिश थमने के बाद लोगों को राहत पहुंचाने के लिए प्रशासन युद्धस्तर पर जुट गया है। बैठकों का सिलसिला जारी है। हालांकि बारिश रुकने के बाद प्रभावित इलाकों में राहत और बचाव कार्य में तेजी आई है।

प्रशासन के मुताबिक, बारिश की वजह से घरों में फंसे 12 हजार लोगों को निकाल लिया गया है। प्रभावित इलाकों में एयरफोर्स के चॉपर से फूड पैकेट्स गिराए जा रहे हैं।

नालंदा में ग्रामीणों ने हाईवे पर ले रखी है शरण
नालंदा जिले के रहुई प्रखंड का सोनसिकरा गांव पूरी तरह बाढ़ में डूब चुका है। ग्रामीणों ने हाईवे पर शरण ले रखी है। मगर, यहां प्रशासन की ओर से अभी तक मदद मुहैया नहीं कराई जा सकी है। वहीं, राजधानी में एनडीआरएफ की टीम जरूरत व मूलभूत सुविधाओं के सामग्री पहुंचाने के लिए कोशिशों में लगे हुए है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

माता पिता के साथ हुए नस्ली भेदभाव की बात करते रो पड़े होल्डिंग

साउथम्पटन : वेस्टइंडीज के अपने जमाने के दिग्गज गेंदबाज माइकल होल्डिंग नस्लवाद पर दमदार भाषण देने के एक दिन बाद सीधे प्रसारण के दौरान अपने आगे पढ़ें »

शाहरुख ने मुझे गंभीर जैसी आजादी नहीं दी : गांगुली

नयी दिल्‍ली : मौजूदा बीसीसीआई अध्यक्ष और टीम इंडिया के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने कोलकाता नाइट राइडर्स (केकेआर) के को-ओनर शाहरुख खान को लेकर आगे पढ़ें »

ऊपर