जदयू समेत कई दलों के सहयोग से लोकसभा में पारित हुआ नागरिकता संशोधन बिल : सुशील कुमार मोदी

Sushil Modi statement about Narco Test

पटना : बिहार के उपमुख्यमंत्री एवं भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता सुशील कुमार मोदी ने मंगलवार को कहा कि जनता दल (यूनाइटेड) , बीजू जनता दल, शिवसेना और वाईएसआर कांग्रेस समेत जिन दलों ने नागरिकता संशोधन विधेयक की मूल भावना को घरेलू राजनीति से ऊपर उठकर समझा, उन सबके समर्थन से यह विधेयक लोकसभा में पारित हुआ।
सुशील कुमार मोदी ने ट्वीट कर कहा, ‘राज्यसभा से भी यह विधेयक पारित होगा, जिससे लाखों शरणार्थियों को आजादी का एहसास होगा।’ भाजपा नेता ने कहा कि पड़ोसी देशों में धर्म के आधार पर प्रताड़ित लोगों को भारत में शरण दी गयी और अब उन्हें नागरिकता देने के लिए नागरिकता संशोधन विधेयक लाया गया है। उन्होंने कहा कि भारत में जो दल अल्पसंख्यकों के पैरोकार बनते हैं, उन्होंने पाकिस्तान, बांग्लादेश जैसे मुस्लिम देशों में हिंदू, ईसाई, सिख, पारसी और बौद्ध अल्पसंख्यकों पर लगातार होने वाले अत्याचारों पर कभी आवाज क्यों नहीं उठायी? क्या इनका अल्पसंख्यक-प्रेम केवल भारत के सिर्फ एक समुदाय के लिए उमड़ता है।’
मोदी ने एक अन्य ट्वीट में कहा, ‘केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने स्पष्ट शब्दों में कहा कि नागरिकता संशोधन विधेयक न तो संविधान की किसी धारा का उल्लंघन करता है और न ही भारत में किसी धर्म के खिलाफ है। पड़ोसी देश के मुसलमान भी वैधानिक तरीके से भारत की नागरिकता के लिए आवेदन कर सकते हैं। इसके बावजूद देश में तनाव फैलाने की कोशिश की जा रही है।’ भाजपा नेता ने कहा कि जो लोग मुसलमानों को भाजपा से डराकर अब तक उनके वोट ले रहे थे, वे अब इस विधेयक के बहाने उन्हें बेवजह डराने की राजनीति कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस और राष्ट्रीय जनता दल ने ‘डराओ, तनाव फैलाओ और राज करो’ की नीति के चलते जैसे राममंदिर का विरोध किया था, उसी नीयत से वे नागरिकता संशोधन विधेयक का भी विरोध कर रहे हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

25 करोड़ की हेरोइन के साथ तस्कर गिरफ्तार

अभियुक्तों के पास से 5 किलो हेरोइन और कार जब्त कोलकाता : 25 करोड़ रुपये की हेरोइन के साथ कोलकाता पुलिस के एसटीएफ अधिकारियों ने एक आगे पढ़ें »

tmc

पहले यूपी की कानून व्यवस्था देखें, फिर बंगाल पर उंगली उठाएं – तृणमूल

हाथरस की घटना पर योगी को तृणमूल ने घेरा कोलकाता : बंगाल में चुनावी माहौल गरम है। भाजपा लगातार आक्रामक हो रही है, वहीं तृणमूल भी आगे पढ़ें »

ऊपर