छात्र को पढ़ाने के बहाने शिक्षिका बनाती थी शारीरिक सबंध, गिरफ्तार

चंडीगढ़: एक महिला शिक्षिका को पुलिस ने एक नाबालि॒ग बच्चे के साथ शारीरिक संबंध बनाने के आरोप में गिरफ्तार किया है। पुलिस ने 33 वर्षीय महिला शिक्षिका के खिलाफ पॉक्सो एक्ट की धारा 6 के तहत मुकदमा दायर किया था। गुरुवार को शिक्षिका को चंडीगढ़ की जिला अदालत में पेश किया गया जहां से उसे न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है।
फेल होने पर हुआ खुलासा
शिक्षिका पर आरोप है कि उसने अपने यहां ट्यूशन पढ़ने वाले 15 साल के बच्चे का शारीरिक शोषण किया था। शिक्षिका मार्च महीने से ही लगातार बच्चे के साथ शारीरिक संबंध बना रही थी। चाइल्ड हेल्पलाइन की प्रोजेक्ट मैनेजर संगीता जूंद ने बताया कि दसवी में पढ़ने वाला छात्र उसी मोहल्ले में रहता है जहां उसकी शिक्षिका रहती है। शिक्षिका इस छात्र को अपने घर बुलाकर ट्यूशन पढ़ाती थी।जब छात्र की काउंसलिंग की गई तो पता चला कि शिक्षिका छात्र को लेकर ना केवल आक्रामक थी बल्कि पजेसिव भी थी।  पहली बार 22 मई को इस बारे में पीड़ित छात्र के परिजनों को तब पता चला उनका बच्चा परीक्षा में फेल हो गया। तब छात्र के परिजनों ने उसे शिक्षिका के घर ट्यूशन पर नहीं भेजने का फैसला किया।
 लड़के को पड़ोसियों की मदद से मुक्त कराया
महिला शिक्षिका को पता चला कि उसका छात्र ट्यूशन पर नहीं आएगा तो उसने बच्चे को अपने कमरे में खींच लिया और दरवाजा बंद कर लिया। यह देख छात्र के माता-पिता घबरा गए और उन्होंने पड़ोसियों की मदद से बच्चे को शिक्षिका के चगुंल से मुक्त कराया, लेकिन शिक्षिका इस पर भी नहीं मानी और थोड़ी देर बाद छात्र के घर आ धमकी और कफ सिरप पी लिया। छात्र के माता-पिता ने पुलिस को कॉल किया और शिक्षिका को अस्पताल ले जाया गया।
मोबाइल पर अश्लील मैसेज भेजती थी
चाइल्ड हेल्पलाइन के काउंसलर्स ने जब बच्चे की काउंसलिंग की तो पता चला कि उसका शीरीरिक शोषण हो रहा था। शिक्षक ने छात्र को एक सिम कार्ड भी दे रखा था जिससे वे एक दूसरे से बातें किया करते थे। चाइल्ड हेल्पलाइन की संगीता जूद ने बताया कि शिक्षक छात्र के साथ सेक्स करती थी और फोन पर उसे भावनात्मक व अश्लील मैसेज भेजा करती थी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

dead

निर्भया मामले में अपराधियों को तिहाड़ जेल नंबर-3 में दी जाएगी फांसी, तैयारियां शुरू

नई दिल्ली : निर्भया के चारों दोषी तिहाड़ जेल में बंद है। राष्ट्रपति की ओर से इन दोषियों को फांसी देने वाली दया याचिका पर आगे पढ़ें »

सरकारी कंपनियों के रणनीतिक विनिवेश में ढिलाई पर कैग ने किए सवाल

नई दिल्ली : सरकारी कंपनियों के रणनीतिक विनिवेश के लक्ष्य की प्राप्ति में ढिलाई पर कैग ने सरकार पर सवाल खड़ा करते हुए कहा है आगे पढ़ें »

ऊपर