कमलनाथ ने सरकार बनाने का दावा पेश किया, नहीं दिखे सिंधिया

भोपाल : मध्‍यप्रदेश में 15 साल बाद एक बार फिर सत्‍ता में लौटी कांग्रेस को अपने नेता का चुनाव करने में भारी मशक्‍कत का सामना करना पड़ा। गांधी परिवार के समर्थक तथा 9 बार छिंदवाड़ा से सांसद रहे कमलनाथ को इसका ईनाम मिला उन्‍हें ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया पर तरजीह देते हुए प्रदेश की बागडोर सौंप दी गयी। प्रदेश कांग्रेस विधायक दल का नेता चुने जाने के बाद शुक्रवार को भारी सुरक्षा बंदोबस्त के बीच कमलनाथ ने राजभवन पहुंचकर राज्यपाल आनंदीबेन पटेल के समक्ष सरकार बनाने का दावा पेश किया। कमलनाथ ने राज्यपाल आनंदीबेन पटेल को विधायकों की सूची भी सौंपी। कमलनाथ के साथ प्रदेश प्रभारी दीपक बावरिया, दिग्विजय सिंह, विवेक तन्खा और अरुण यादव साथ में रहे। हालांकि ज्योतिरादित्य सिंधिया कमलनाथ के साथ इस मौके पर मौजूद नहीं रहे। इस बीच मंत्रिमंडल के गठन की तैयारियां भी शुरू हो गई हैं। भोपाल के कलेक्टर सुदामा खाड़े और अन्य अधिकारियों ने लाल परेड ग्राउंड का निरीक्षण कर तैयारियों का जायजा लिया। कमलनाथ का शपथ ग्रहण समारोह 17 दिसंबर को लाल परेड ग्राउंड में 1.30 बजे होगा।


शेयर करें

मुख्य समाचार

100 की स्पीड में लिया यू टर्न, कार पलटी, 3 मरे

कोलकाता : सोमवार की रात से दोस्त की बर्थ डे पार्टी चल रही थी। अंजाम यह होगा यह सोच कर ही रोंगटे खड़े हो जाते आगे पढ़ें »

पटना का महावीर मंदिर ट्रस्ट अयोध्या के राम मंदिर के श्रद्धालुओं के लिए रसोई चलाएगा

अयोध्या : राम मंदिर के दर्शन के लिए अयोध्या के बाहर से आने वाले श्रद्धालुओं के लिए बिहार का महावीर मंदिर ट्रस्ट सामुदायिक भोज की आगे पढ़ें »

ऊपर