चुनाव लड़ सकते हैं बिहार के डीजीपी पद से वीआरएस लेने वाले गुप्तेश्वर पांडेय

 पटना : बिहार विधानसभा के लिए आसन्न चुनाव से ठीक पहले राज्य के पुलिस महानिदेशक गुप्तेश्वर पांडेय ने मंगलवार को अचानक स्वैच्छिक सेवानिवृति ले ली। माना जा रहा है कि गुप्तेश्वर पांडेय बक्सर सीट से विधानसभा चुनाव लड़ सकते हैं। गृह विभाग के अनुसार बिहार के गृह विभाग द्वारा मंगलवार की देर शाम जारी एक अधिसूचना में कहा गया है कि राज्यपाल फागू चौहान ने पांडेय के अनुरोध को मंजूरी दे दी है। पांडेय ने 2009 में लोकसभा चुनाव लड़ने के लिए समय से पहले सेवानिवृत्ति ले ली थी, लेकिन बाद में राज्य सरकार ने उनकी वीआरएस याचिका स्वीकार नहीं की और उन्हें पुलिस सेवा में बहाल कर दिया था। 1987 बैच के आईपीएस अधिकारी पांडेय ने मीडिया से बातचीत में संकेत दिये हैं कि वे आसन्न बिहार विधानसभा चुनाव लड़ सकते हैं। उन्होंने कहा कि मैंने अभी कोई पार्टी ज्वाइन नहीं की है।
पांडेय हाल में अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत मामले में महाराष्ट्र की शिवसेना सरकार के नीतीश कुमार सरकार पर हमले को लेकर बिहार सरकार के बचाव के लिए सुर्खियों में रहे थे। पांडेय ने वीआरएस लेने के बाद कहा कि मुझे पॉलिटिकल एजेंडा बनाया जा रहा था, जिसके चलते उन्होंने वीआरएस लिया है। राजनीति में जाना कोई बुरी बात नहीं है लेकिन अभी तक इस पर फैसला नहीं लिया है। उनके सेवानिवृत्त होने का सुशांत सिंह राजपूत मामले से कोई लेना-देना नहीं है। मैंने सुशांत को न्याय दिलाने के लिए कई बड़े लोगों को कठघरे में खड़ा कर दिया है। सबकी गर्दन फंसी है कभी भी कुछ भी हो सकता है। बड़े-बड़े लोग इसमें फंस आ सकते हैं। उनके अंदर बौखलाहट है। सुशांत को इंसाफ दिलाने की लड़ाई मरते दम तक जारी रहेगी। उन्होंने कहा कि पहले डीजीपी था तो मर्यादा में रहकर बोलता था लेकिन अब स्वतंत्र हो गया हूं। उन्होंने कहा कि डीजीपी रहते अगर कोई एक्शन लेता तो मुझपर आरोप लगता कि ये चुनाव में किसी को फायदा पहुंचा रहे हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राजस्थान ने पंजाब को 7 विकेट से हराया, राजस्थान अब भी प्ले ऑफ की रेस में

अबुधाबी : बेन स्टोक्स की अगुआई में शीर्ष क्रम के बल्लेबाजों के उम्दा प्रदर्शन की बदौलत राजस्थान रॉयल्स ने इंडियन प्रीमियर लीग में शुक्रवार को आगे पढ़ें »

1000 छक्के उड़ाने वाले दुनिया के पहले क्रिकेटर बने गेल

अबु धाबी : राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ शतक से चूक गए अपनी विस्फोटक बल्लेबाजी के कारण दुनियाभर की टी20 लीग में अपना विशिष्ट स्थान रखने आगे पढ़ें »

ऊपर