गूगल पर विज्ञापन देने के मामले में भाजपा ने मारी बाजी, कांग्रेस छठे स्‍थान पर

नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव में हर पार्टी चाहती है कि उसकी पहुंच प्रत्येक व्यक्ति तक हो। इसके लिए पार्टियां विज्ञापनों के माध्यम से ज्यादा से ज्यादा पैठ जमाने की कोशिश करती है। गूगल में विज्ञापनों पर खर्च करने के मामले में भाजपा ने सभी राजनीतिक दलों को पीछे छोड़ दिया है जबकि विज्ञापनों पर खर्च करने के मामले में कांग्रेस छठे नंबर पर है।
‘भारतीय पारर्दिशता रिपोर्ट’ के अनुसार राजनीतिक दलों और उनसे संबंद्ध घटकों ने फरवरी 2019 तक विज्ञापनों पर 3.76 करोड़ रुपए खर्च किए हैं। भारतीय जनता पार्टी विज्ञापनों पर 1.21 करोड़ रुपए खर्च करने के साथ ही इस सूची में शीर्ष पर जगह बना लिया है, जो कि गूगल पर कुल विज्ञापन खर्चों का लगभग 32 प्रतिशत है।
विभिन्न पा‌र्टियों को मिला यह स्‍थान
रिपोर्ट के अनुसार भाजपा के बाद इस सूची में आंध्र प्रदेश की जगन मोहन रेड्डी के नेतृत्व वाली वाईएसआर कांग्रेस पार्टी है जिसने विज्ञापनों पर कुल 1.04 करोड़ रुपए खर्च किए हैं। तेलुगू देसम पार्टी (तेदेपा) और उसके प्रमुख चंद्र बाबू नायडू का प्रचार करने वाली ‘प्रमाण्य स्ट्रेटजी कंसल्टिंग प्राइवेट लिमिटेड’ 85.25 लाख रुपए खर्च करने के साथ इस सूची में तीसरे नंबर पर है। नायडू का प्रचार करने वाली एक अन्य पार्टी ‘डिजिटल कंसल्टिंग प्राइवेट लिमिटेड’ 63.43 लाख रुपए का खर्च कर चौथे नंबर पर है। बता दें कि गूगल ने अपनी विज्ञापन नीति के उल्लंघन के कारण 11 में से चार राजनीतिक विज्ञापनदाताओं के विज्ञापन को ब्लॉक कर दिया है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

बंगाल में तीसरे दिन भी कोरोना के 800 से ज्यादा मामले, 25 की हुई मौत

कोलकाता : वेस्ट बंगाल कोविड-19 हेल्थ बुलेटिन के अनुसार पश्चिम बंगाल में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस संक्रमण के 850 नये मामले आये है आगे पढ़ें »

कोरोना की वजह से 9वीं-12वीं के पाठ्यक्रम 30 फीसदी घटे

नयी दिल्ली : कोविड-19 के बढ़ते मामलों के बीच स्कूलों के ना खुल पाने के कारण शिक्षा व्यवस्था पर असर और कक्षाओं के समय में आगे पढ़ें »

ऊपर