गिरिडीह से अपहृत किशोर मुजफ्फरपुर से बरामद, चाचा समेत तीन गिरफ्तार

गिरिडीह : झारखंड के गिरिडीह जिले में नगर थाना क्षेत्र के ऑफिसर कॉलोनी से अपहृत किशोर को पुलिस ने बिहार के मुजफ्फरपुर जिले में कांटी थाना क्षेत्र के मानिकपुर से सकुशल बरामद कर इस मामले में संलिप्त किशोर के चाचा समेत तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया है।
पुलिस अधीक्षक सुरेंद्र झा ने शुक्रवार को यहां संवाददाता सम्मेलन में बताया कि ऑफिसर कॉलोनी निवासी शंकर दास ने इस वर्ष 5 फरवरी को नगर थाने में अपने 12 वर्षीय भतीजे छोटू कुमार के 3 फरवरी को अचानक गायब हो जाने और 4 फरवरी को अपहरणकर्ताओं द्वारा दस लाख रुपये फिरौती की मांग करने की शिकायत दर्ज कराई थी। उन्होंने बताया कि पुलिस मामले को गंभीरता से लेते हुए मामले के अनुसंधान में जुट गयी। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि अनुसंधान के क्रम में अपहरणकर्ताओं का तार मुजफ्फरपुर से जुड़ा पाया गया। प्राप्त सूचना के आधार पर कार्रवाई करने के लिए नगरा थाने के इंस्पेक्टर दिलीप यादव के नेतृत्व में पुलिस टीम का गठन किया गया। टीम ने छापामारी कर अपहृत किशोर को सकुशल बरामद कर लिया। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि इस मामले में पुलिस ने किशोर के चाचा प्रमोद दास के साथ ही अब्दुल खालिद और अल्ताफ को गिरफ्तार कर लिया। उन्होंने बताया कि इसके साथ ही फिरौती मांगने के लिए इस्तेमाल किए गए मोबाइल फोन को भी बरामद कर लिया है। सुरेंद्र झा ने बताया कि पूछताछ में प्रमोद दास ने स्वीकार किया कि उसने ही अपने साला के साथ मिलकर अपहरण की योजना बनाई थी और अपने सहयोगियों अब्दुल खालिद एवं अल्ताफ के सहयोग से घटना को अंजाम दिया था। उन्होंने बताया कि किशोर का अपहरण करने के बाद उसे अभियुक्त अब्दुल खालिस के मानिकपुर स्थित मकान में छिपाकर रखा गया था।

सांकेतिक तस्वीर

लापता बच्ची का क्षत-विक्षत शव बरामद
दुमका : झारखंड के दुमका जिले में रामगढ़ थाना क्षेत्र के मोहबना गांव में गड्ढे से पुलिस ने दो दिनों से लापता बच्ची का क्षत-विक्षत शव शुक्रवार को बरामद किया।
पुलिस सूत्रों ने यहां बताया कि गांव के लोगों ने शुक्रवार को एक बच्ची का शव गड्ढे में देखा और इसकी सूचना पुलिस को दी। सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को पानी से बाहर निकलवाया। बच्ची मोहबना में अपने मामा के घर में रहती थी। बीते बुधवार को वह गांव में ही आयोजित मेला देखने के लिए घर से निकली थी। लेकिन, लौटकर नहीं आई। परिजनों ने बच्ची के साथ दुष्कर्म कर उसकी हत्या कर साक्ष्य को छुपाने के लिए शव को गड्ढे में फेंक दिये जाने की आशंका जताई है। सूत्रों ने बताया कि परिजनों ने पुलिस प्रशासन से मामले की गहन छानबीन करने के साथ हत्यारों को अविलंब गिरफ्तार करने का आग्रह किया है। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए दुमका भेज दिया है और मामले की गहन छानबीन शुरू कर दी है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

कोरोना वायरस की स्थिति पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की 10 राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ चर्चा

नयी दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को 10 राज्यों के मुख्यमंत्रियों से चर्चा कर कोरोना वायरस महामारी की मौजूदा स्थिति की समीक्षा शुरू आगे पढ़ें »

सियालदह स्टेशन पर चढ़ा आधुनिकता का रंग, बदला-बदला दिखेगा स्टेशन

कोलकाता : सियालदह स्टेशन से रोजाना 11 लाख से ज्यादा लोग आवाजाही करते हैं और रोजाना 956 से भी अधिक ट्रेनें आती जाती हैं। वह आगे पढ़ें »

ऊपर