कोरोना वैक्सीन आने के बाद भी बरतनी होगी सावधानी

लखनऊः भारत में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले 93.5 लाख से ऊपर पहुंच चुके हैं। पूरा देश कोरोना की वैक्सीन का इंतजार कर रहा है। सभी लोग अब यही चाहते हैं कि जल्द से जल्द वैक्सीन उपलब्ध हो और मास्क-सोशल डिस्टेंसिंग जैसे नियमों से छुटकारा मिले, लेकिन क्या वैक्सीन उपलब्ध हो जाने के बाद आप बिना मास्क के बाहर घूम पाएंगे? तो इसका जवाब है- ‘नहीं’। आईसीएमआर के प्रमुख ने कहा कि वैक्सीन आ जाने के बाद भी स्वास्थ्य और सुरक्षा प्रोटोकॉल लंबे समय तक लागू रहेंगे और सभी को इनका पालन करना होगा। भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) के प्रमुख प्रोफेसर बलराम भार्गव का कहना है कि ‘कोरोना का टीका उपलब्ध हो जाने के बाद भी आपको मास्क पहनने और सोशल डिस्टेंसिंग जैसी सावधानी बरतनी होगी, क्योंकि वैक्सीन आपको केवल संक्रमण से बचाएगी, लेकिन वातावरण से कोरोना का संक्रमण जल्द खत्म नहीं होगा। ऐसे में मास्क लगाना बहुत जरूरी रहेगा क्योंकि वे भी काफी हद तक एक वैक्सीन की ही तरह काम करते हैं।’

लखनऊ के केजीएमयू के वेबिनार में बोले प्रोफेसर

मालूम हो कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को कोरोना वैक्सीन को लेकर इसकी तैयारियों का जायजा लेने के लिए तीन शहरों के दौरे पर गए थे, जिसके तहत उन्होंने अहमदाबाद में जायडस बायोटेक पार्क, हैदराबाद में भारत बायोटेक और पुणे में सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया का दौरा किया। इसी दिन लखनऊ के किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी (केजीएमयू) में एक वेबिनार का आयोजन किया गया।

‘भारत अन्य देशों के लिए भी तैयार कर रहा वैक्सीन’

केजीएमयू के आयोजित इस वेबिनार में बोलते हुए प्रोफेसर भार्गव ने कहा, “जहां तक ​​कोरोना वैक्सीन को तैयार करने का सवाल है, तो इसे लेकर भारत तेजी से प्रगति कर रहा है। हमारे पास अगले साल जुलाई तक 30 करोड़ लोगों को कोरोना का टीका दिए जाने का लक्ष्य है। उसके आगे का काम उसके बाद तय किया जाएगा। इसके साथ भारत केवल अपने लिए ही नहीं, बल्कि अपने पड़ोसी और अन्य विकासशील देशों के 60 प्रतिशत लोगों के लिए भी वैक्सीन तैयार कर रहा है।”

‘संक्रमण की चेन को तोड़ने के लिए मास्क है जरूरी’

उन्होंने कहा कि ‘भारत के लोगों को जल्द ही कोरोना की वैक्सीन मिलेगी। देश में पांच वैक्सीन पर ट्रायल चल रहा है, जिनमें से दो भारतीय हैं और तीन विदेशी वैक्सीन हैं, लेकिन देश से कोरोना के खतरे को दूर करने के लिए केवल वैक्सीन से ही काम नहीं चलेगा। संक्रमण की चेन को तोड़ने के लिए वैक्सीन के साथ-साथ पहले से संक्रमित हो चुके व्यक्ति‍यों में मौजूद एंटीबॉडी और मास्क का इस्तेमाल भी मुख्य हथियार बनेगा। उन्होंने कहा कि कोरोना से ठीक हो चुके लोगों को सुरक्षित रखने में मास्क एक वैक्सीन की ही तरह महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।’

शेयर करें

मुख्य समाचार

रविवार को करे ये काम, सफलता होगी साथ

नई दिल्ली : ज्योतिष के मानें तो रविवार को सुबह-सुबह इस उपाय को करने से पूरे सप्ताह सफलता अपके कदम चूमेगी। ऐसी मान्यता है कि आगे पढ़ें »

सबसे अधिक मतदाता संख्या वृद्धि में अव्वल द‌क्षिण 24 परगना

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाताः मतदाताओं की संख्या में वृद्धि के मामले में दक्षिण 24 परगना अव्वल है। आंकड़े यही दर्शाते हैं। चुनाव आयोग के अनुसार जिले में आगे पढ़ें »

ऊपर