कोरोना को खत्म करने के लिए बाजार में अब तीसरी दवा

कोरोना के इलाज के लिए सिप्ला ने उतारीं ‘सिप्रमी‘
मुम्बई : भारतीय दवा निर्माता कंपनी सिप्ला ने कोरोना वायरस‘कोविड-19’ के संक्रमितों के उपचार के लिए सिप्रमी के ब्रांड नाम से जेनेरिक दवा बाजार में उतारी है। कंपनी ने आज यह जानकारी कि यूस फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन (यूस एफडीए) ने इमरजेंसी यूज ऑथोराइजेशन (ईयूए) जारी करते हुए अस्पताल में भर्ती कोविड-19 से संक्रमित मरीजों के उपचार के लिए हाल ही में गिलीड साइंसेज को रेमिडिसिविर के इस्तेमाल की अनुमति दी थी। सिप्ला द्वारा लांच की गयी दवा सिप्रमी इसी रेमिडिसिविर दवा का जेनेरिक संस्करण है। गिलीड साइंसेज ने ही सिप्ला को जेनेरिक संस्करण के उत्पादन और विपणन का लाइसेंस प्रदान किया है। भारतीय औषधि महा नियंत्रक (डीसीजीआई) ने सिप्रमी के इस्तेमाल को मंजूरी दे दी है।

सिप्रमी दवा के इस्तेमाल के लिए प्रशिक्षण देगी

सिप्ला ने बताया कि वह आपदा प्रबंधन योजना के तहत सिप्रमी दवा के इस्तेमाल के लिए प्रशिक्षण देगी। जिन मरीजों पर यह दवा इस्तेमाल होगी, उन्हें सहमति के लिए एक फॉर्म भरना होगा। इस दवा की आपूर्ति सरकारी माध्यम से होगी और इसे दवा की दुकानों में भी खरीदा जा सकेगा। उल्लेखनीय है कि इससे पहले दवा कंपनी हेटेरो ने भी रेमिडिसिवर का जेनेरिक संस्करण कोविफोर के ब्रांड नाम से लांच किया है।
इन कंपनियों की ये है दवा
ग्लेन फार्मा – फेबी फ्लू,
हेटरो लैब्स- कोविफॉर,
सिप्ला- सिप्रमी के ब्रांड नाम से जेनेरिक दवा

शेयर करें

मुख्य समाचार

अब ‘मोबाइल डाटा’ होगा चीन का हथियार : विशेषज्ञ

नई दिल्ली : चीन की कम्युनिस्ट पार्टी और उसकी सैन्य शाखा मोबाइल नेटवर्क और एप के जरिये एकत्र किये जा रहे भारतीयों के डाटा का आगे पढ़ें »

ओली को दो दिन और मिले

काठमांडू : चीन की शह पर भारत से दुश्मनी पालने पर उतरे नेपाल के प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली को दो दिन और मिल गए हैं। आगे पढ़ें »

ऊपर