कोरोना के खिलाफ अंधविश्वास से भरी जंग, कहीं हवन, कहीं धूनी तो कहीं अर्पण

नई दिल्ली : देश इस वक्त कोरोना की दूसरी लहर का सामना कर रहा है l हर ओर मातम है, लोग बीमार पड़ रहे हैं और हज़ारों की संख्या में मौतें दर्ज हो रही हैं l इस महामारी का सामना करने के लिए देश के डॉक्टर दिन-रात एक किए हुए हैं और वैक्सीनेशन का काम भी जारी है l इस सबके बीच कोराना के खिलाफ इस लड़ाई में देश के अलग-अलग हिस्सों में अंधविश्वास भी दिखाई दे रहा है, लोग कहीं हवन कर रहे हैं, तो कहीं धूनी जमा रहे हैं, ताकि कोरोना को मात दी जा सके.
* पूरे नगर में घुमाया हवनकुंड…
कोरोना महामारी ने इस वक्त गांवों की ओर रुख कर लिया है, यहां स्वास्थ्य विभाग एक्टिव हो पाता उससे पहले लोग अपनी धार्मिक मान्यताओं के बल पर कोरोना को मात देने में जुट गए हैं l मध्य प्रदेश के राजगढ़ में एक ट्रॉली में हवन कुंड बनाया गया, उसमें आहुति देते हुए पूरे इलाके में उसे घुमाया गया l ऐसा करने वालों का तर्क है कि हवन के धुएं से वायुमंडल शुद्ध होगा और कोरोना कमज़ोर होगा l
* घर-घर हवन करने की अपील…
हरियाणा के झज्जर में भी कुछ ऐसा ही नज़ारा देखने को मिला है l यहां पर ग्रामीणों द्वारा हवन किया गया, साथ ही गूगल-लोबाण की धूनी देकर उसे शहरभर में संदेशयात्रा निकाली गई l ग्रामीणों ने यहां ट्रैक्टर-ट्रॉली में हवनकुंड को रखा, उसका गांव में चक्कर कटवाया l साथ ही लोगों से घर-घर यज्ञ करवाने की अपील भी की l

* कानपुर में मरीजों के सामने पूजा-अर्चना
कानपुर से एक और नज़ारा सामने आया है l कानपुर के एक सरकारी अस्पताल मे दो महिलाएं मरीज़ के सामने मंत्रों का जाप कर रही हैं, दावा है कि ऐसा करने से उनकी तबीयत ठीक हो जाएगी l
सिर्फ इन शहरों से ही नहीं बल्कि कई हिस्सों से ऐसी तस्वीरें आ रही हैं, जहां लोग किसी मान्यता या देसी नुस्खों पर ज्यादा जोर दे रहे हैं. फिर चाहे हवन हो या फिर गोबर से मालिश करना l

शेयर करें

मुख्य समाचार

पैरेंट्स ने नहीं दिलाया कुत्ता तो बेटे ने कर ली…

विशाखापट्टनम : एक नाबालिग लड़के ने सिर्फ इसलिए खुदकुशी कर ली कि उसे माता-पिता ने घर में पालने के लिए कुत्ता लाने से मना कर आगे पढ़ें »

5000 हेल्थ अस्टिटेंट को दी जाएगी मरीजों की देखभाल की ट्रेनिंग : केजरीवाल

नई दिल्ली : राज्यों ने जानलेवा कोरोना वायरस की संभावित तीसरी लहर से निपटने की तैयारी शुरू कर दी है। इसी क्रम में दिल्ली सरकार भी आगे पढ़ें »

ऊपर