कश्मीर घाटी में सड़कों पर घूमे डोभाल, स्‍थानीय लोगों के साथ खाना भी खाया

Ajit Doval in Shopian

श्रीनगर : जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने के बाद राज्य की सुरक्षा व्यवस्था की स्थिति का जायजा लेने के लिए राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल बुधवार को श्रीनगर पहुंचे। उन्होंने राज्यपाल सत्यपाल मलिक से सुरक्षा स्थिति पर चर्चा की। इसके बाद डोभाल संवेदनशील इलाके शोपियां पहुंचे। वहां स्थानीय लोगों से मुलाकात की। उन्होंने एक चौराहे पर लोगों के साथ खाना भी खाया।

आतंकवाद से सबसे ज्यादा प्रभावित इलाका

आपको बता दें कि शोपियां एक ऐसा जिला है जो आतंकवाद से सबसे ज्यादा प्रभावित रहा है और आए दिन यहां कोई न कोई घटना सामने आती रही है। आतंकी वुरहान वानी को भी यहीं ढेर किया गया था जिसके बाद यहां काफी बडे़ स्तर पर वानी की मौत पर विरोध प्रदर्शन किए गए थे। हालांकि अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद यहां शांति बनी हुई है और लोगों में सौहार्द्र देखा जा रहा है।

सुरक्षा स्थिति का लिया जायजा

बताया जा रहा है कि अजीत डोभाल ने सुरक्षाबलों से भी मुलाकात की और स्थिति का जायजा लिया। इसके बाद वह आम नागरिकों से मिले। इस दौरान वह आम लोगों से बातचीत करते भी देखे गए। शोपियां में आम लोगों के साथ भोजन करने के बाद डोभाल वहां के पुलिस अधिकारियों से मिले। इस दौरान उनके साथ डीजीपी दिलबाग सिंह भी मौजूद थे।

प्रधानमंत्री आवास पर हुई थी बैठक

इससे पहले सोमवार को दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आवास पर लगभग एक घंटे तक सुरक्षा मामलों की मंत्रिमंडलीय समिति (सीसीएस) की बैठक चली थी जिसमें जम्मू कश्मीर के अलग अलग मुद्दों पर चर्चा की गई। उच्चस्तरीय बैठक में प्रधानमंत्री मोदी, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल के सा‌थ-साथ इस बैठक में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण, विदेश मंत्री एस. जयशंकर और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह भी मौजूद रहे।

राज्यपाल से मुलाकात

मालूम हो कि मंगलवार को अजीत डोभाल ने राज्यपाल सत्यपाल मलिक से राज भवन में मुलाकात की थी और राज्य की आंतरिक तथा बाह्य सुरक्षा परिदृश्य पर चर्चा की थी।

राजभवन के एक प्रवक्ता ने कहा था कि संसद में जम्मू कश्मीर से संबंधित घटनाक्रमों के मद्देनजर राज्यपाल और डोभाल ने आंतरिक और बाहरी सुरक्षा स्थिति पर विस्तार से चर्चा की। इस दौरान दोनों ने आम जनता की रक्षा और सुरक्षा सुनिश्चित करने की जरूरत पर जोर दिया। साथ ही किसी अप्रिय स्थिति से निपटने के लिए विभिन्न विभागों को लगातार चौकस रहने ,सतर्कता बनाए रखने, और पूर्ण तैयारी रखने की जरूरत पर भी जोर दिया गया। उन्होंने बताया कि राज्यपाल और डोभाल ने विभिन्न विभागों से अपने कामकाज में तालमेल बनाए रखने को भी कहा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

टोक्‍यों ओलंपिक में खिलाड़ियों का पूरा समर्थन करेगा देश : कोविंद

नयी दिल्ली : राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने शनिवार को कहा कि 24 जुलाई से नौ अगस्त तक आयोजित 2020 टोक्यो ओलंपिक में देश का प्रतिनिधित्व आगे पढ़ें »

बुकर पुरस्कार विजेता जोखा अल हार्सी पहुंचीं जयपुर साहित्य महोत्सव में, लेखन चुनौतियों का जिक्र किया

जयपुरः ओमान की लेखिका एवं बुकर पुरस्कार विजेता जोखा अल हार्सी के लिए लेखन का सबसे दिलचस्प और चुनौतीपूर्ण पहलू समाज में मौजूद अनसुनी और आगे पढ़ें »

ऊपर