करोड़ों के नोटों के बंडल जला दिए

16 लाख रुपये रिश्वत लेते अभियंता गिरफ्तार
84 करोड़ में से 84 लाख रिश्वत मांगी गई थी,  मामले में राज्य निगरानी अन्वेषण ब्यूरो ने की कार्रवाई
पटनाः बिहार राज्य निगरानी अन्वेषण ब्यूरो की एक टीम ने पथ निर्माण विभाग के कटिहार में पदस्थापित कार्यपालक अभियंता अरविंद कुमार को पटना स्थित उनके आवास से रिश्वत की पहली किश्त 16 लाख लेते हुए रंगे हाथ दबोच लिया। गिरफ्तार अभियंता से पूछताछ किए जाने के बाद भागलपुर स्थित निगरानी की अदालत में पेश किया जाएगा। इस जानकारी के बाद अभियंता की पत्नी घर में पड़े कुछ रुपयों के बंडलो को जला कर बाथरुम के नाली में बहा दिए। सूत्रों के अनुसार अभियंता कटिहार जिले ‌स्थित कार्यलय में तैनात हैं।

फिलहाल, टीम इसकी जांच में जुटी है और पता करने की कोशिश कर रही है कि महिला ने कितने रुपये जलाए। सूत्रों का भरोसा माने तो महिला ने करीब एक करोड़ रुपये के नोटों की गद्दियां जला दिए। टीम को इंजीनियर के घर से करीब दो से ढाई करोड़ रुपए की बरामदगी की संभावना बनी थी ।

यह है मामला
ब्यूरो के उपमहानिरीक्षक शंकर झा ने सोमवार को बताया कि कटिहार जिला के कोढा थाना अंतर्गत बिंजी गांव निवासी और परिवादी निखिल कुमार ने शिकायत की थी कि अरविंद कुमार रोड देखभाल कार्य के 83 करोड़ 52 लाख छह हजार रुपये के भुगतान करने के एवज में कुल राशि का एक प्रतिशत यानि 84 लाख रुपये रिश्वत के तौर पर मांग कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि निखिल के काफी आग्रह करने पर अरविंद 80 लाख रुपये लेकर बिल का भुगतान करने के लिए राजी हो गए।

कार्यालय में भी जांच

वहीं, पटना में छापेमारी के साथ ही पुलिस की एक टीम कटिहार पथ निर्माण विभाग के कार्यालय में पहंची । टीम ने सभी विभागीय कार्य पर रोक लगा दी। कर्मियों को कार्यालय से बाहर निकलने से रोका गया । उसके कुछ ही देर बाद निगरानी की एक टीम भागलपुर से कटिहार पहुंची है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

उड़ान की लैंडिंग के बाद अब झटपट यात्री विमान से निकल सकेंगे बाहर

सन्मार्ग संवाददाता,कोलकाता : उड़ान परिसेवा को दुरुस्त बनाने के लिए एयरपोर्ट अथारिटी ऑफ इंडिया नयी-नयी तकनीकियों और अवसरों पर काम करता आ रहा है। ऐसे आगे पढ़ें »

हावड़ा के सैकड़ों एटीएम हैं असुरक्षित-सीपी

सन्मार्ग संवाददाता,हावड़ा : एटीएम स्कीमिंग फ्रॉड के मामले सामने आने के बाद गुरुवार को हावड़ा पुलिस आयुक्त गौरव शर्मा ने कुछ बैंक अधिकारियों के साथ आगे पढ़ें »

ऊपर