कटारिया स्टेशन के पास ट्रेन से कटकर युवक की मौत

अपराध

भागलपुर : बिहार में पूर्व-मध्य रेलवे के बरौनी-कटिहार रेलखंड के कटारिया स्टेशन के निकट मंगलवार को ट्रेन से कटकर एक युवक की मौत हो गयी।
नवगछिया के राजकीय रेल पुलिस (जीआरपी) सूत्रों ने बताया कि मृतक की पहचान गोविंद कुमार (22) के रूप में हुई है और वह रंगरा थाना क्षेत्र के बनियापुर गांव का रहने वाला था। हादसे के समय वह रेल लाइन पार कर रहा था और अचानक ट्रेन गुजरने के कारण वह चपेट में आ गया, जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गयी। सूत्रों ने बताया कि इस सिलसिले में जीआरपी ने एक प्राथमिकी दर्ज कर शव को पोस्टमार्टम के लिए नवगछिया अनुमंडलीय अस्पताल भेज दिया है।

भागलपुर में महिला की गला दबाकर हत्या
भागलपुर : बिहार के भागलपुर जिले में परबत्ता थाना क्षेत्र के जगतपुर गांव के पास मंगलवार को कुछ अपराधियों ने एक महिला की गला दबाकर हत्या कर दी और शव को केले के खेत में फेंक दिया।
पुलिस सूत्रों ने यहां बताया कि मृतका की पहचान सीता देवी (30) के रूप में हुई है और वह जगतपुर गांव निवासी दिलीप यादव की पत्नी थी। वह मंगलवार सुबह घर से बाहर निकली थी और दोपहर बाद उसका शव गांव के बाहर केले के खेत में पाया गया। सूत्रों ने बताया कि ग्रामीणों की सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने महिला की अन्यत्र हत्या कर साक्ष्य छिपाने की नीयत से खेत में शव को फेंकने की आशंका जताई। पुलिस ने शव को पोस्टमॉर्टम के लिए नवगछिया अनुमंडलीय अस्पताल भेज दिया है। वहीं, इस मामले की छानबीन पुलिस ने शुरू कर दी है।

बच्ची से सामूहिक दुष्कर्म मामले में दोषी को 20 साल की सजा
दरभंगा : बिहार के दरभंगा में बच्चों को लैंगिक अपराध से संरक्षण (पॉक्सो) अधिनियम की विशेष अदालत ने दो वर्ष की बच्ची से सामूहिक दुष्कर्म मामले में मंगलवार को दोषी को 20 वर्ष सश्रम कारावास के साथ दस हजार रुपये जुर्माने की सजा सुनाई।
विशेष न्यायाधीश संजय अग्रवाल की अदालत ने मामले में एपीएम थाना क्षेत्र के इंदिरा नगर गांव निवासी दोषी कन्हैया दास को यह सजा सुनाई है। जुर्माने की राशि अदा नहीं करने पर दोषी को एक वर्ष कारावास की सजा अलग से भुगतनी होगी। वहीं, न्यायालय ने बिहार सरकार को पीड़िता के पुनर्वास के लिए प्रतिकर के रूप में नौ लाख रुपये का भुगतान करने का आदेश भी दिया है, जो उसे स्थानीय विधिक प्राधिकार दरभंगा द्वारा भुगतान किया जाएगा। इस राशि में से आधी राशि बच्ची के नाम सावधि जमा करने एवं आधी राशि बैंक में जमा कर उसकी आय योजना में रखी जाए। विशेष लोक अभियोजक विजय कुमार पारिजात ने यहां बताया कि 4 अप्रैल 2018 को शाम छह बजे अभियुक्त एपीएम थाना क्षेत्र के इंदिरा नगर गांव निवासी कन्हैया दास दो वर्ष की बच्ची को जबरदस्ती खेलने के बहाने घर से ले गया और वापस उसे नहीं पहुंचाया। खोजबीन के दौरान रात में बच्ची बेहोशी की हालत में एक अन्य अभियुक्त, जो नाबालिग है के घर से गंभीर हालत में मिली। उन्होंने बताया कि इस मामले के एक अन्य अभियुक्त के नाबालिग होने के कारण उसके विरुद्ध मामला किशोर न्याय बोर्ड में विचाराधीन है।

रेल संरक्षा आयुक्त ने की हसनपुर ट्रेन दुर्घटना की जांच
समस्तीपुर : बिहार में पूर्व मध्य रेलवे के समस्तीपुर रेल मंडल में हसनपुर रोड स्टेशन के पश्चिमी फाटक पर पिछले 16 जनवरी को हुई ट्रेन दुर्घटना की जांच पूर्वी सर्किल, कोलकाता के रेल संरक्षा आयुक्त मोहम्मद लतीफ खान ने की।
वरिष्ठ मंडल वाणिज्य प्रबंधक सह मीडिया प्रभारी बीरेंद्र कुमार ने मंगलवार को यहां बताया कि नागरिक उड्डयन मंत्रालय, भारत सरकार के अधीन पूर्वी क्षेत्र, कोलकाता के रेल संरक्षा आयुक्त मोहम्मद लतीफ खान ने सोमवार को घटनास्थल पर पहुंच कर दुघर्टना की जांच की। इस दौरान रेल संरक्षा आयुक्त ने गेट पर तैनात गेटमैन, हसनपुर स्टेशन के स्टेशन मास्टर, रेल पुलिस एवं ग्रामीणों से पूछताछ की और घटनास्थल का बारीकी से मुआयना किया। बीरेंद्र कुमार ने बताया कि लतीफ खान ने गेटमैन कक्ष, रेलवे ट्रैक और शवों के पाये जाने वाले स्थानों की भी बारीकी से जांच की एवं स्थानीय लोगों का बयान दर्ज किया। उन्होंने जांच के दौरान घटनास्थल स्थित गुमटी संख्या-2 सीई पर पाई गई यांत्रिक एवं भौतिक त्रुटियों को दूर करने का निर्देश रेल अधिकारियों को दिया। इसके बाद सोमवार देर शाम लतीफ खान ने समस्तीपुर रेल मंडल मुख्यालय के सभाकक्ष मे मंडल रेल प्रबंधक अशोक माहेश्वरी समेत दुर्घटना से संबंधित अधिकारियों एवं कर्मचारियों का भी बयान कलमबंद किया। गौरतलब है कि पिछले 16 जनवरी को गुमटी संख्या 2/ सीई पर समस्तीपुर से सहरसा जा रही 63348 डाउन सवारी गाड़ी और बैलगाड़ी के बीच हुई भीषण टक्कर में ट्रेन के गेट के निकट बैठे पांच यात्रियों की मौत हो गयी थी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

कोविड-19 : रीजिजू ने खिलाड़ियों को व्यस्त रखने की पहल की समीक्षा की

नयी दिल्ली : खेल मंत्री किरेन रीजीजू ने कोविड-19 महामारी के कारण 21 दिन के लॉकडाउन (राष्ट्रव्यापी बंद) के मद्देनजर मंत्रालय और भारतीय खेल प्राधिकरण आगे पढ़ें »

प्रतिभा तलाशना मेरा काम था, युवा विराट कोहली में गजब की प्रतिभा थी : वेंगसरकर

नयी दिल्ली : दिलीप वेंगसरकर को प्रतिभाओं को तलाशने के मामले में भारत के सबसे अच्छे चयनकर्ताओं में से एक माना जाता है जिन्होंने पहली आगे पढ़ें »

ऊपर