अब हमें लोगों के स्तर पर और अधिक सतर्कता बरतने की जरूरत : प्रधानमंत्री

नयी दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संबोधन में कहा कि देशभर में कंटनेमंट जोर पर विशेष तौर पर ध्यान देने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी का प्रकोप निरंतर बढ रहा है लेकिन समय रहते किये गये उपायों और कदमों से भारत की स्थिति अनेक देशों की तुलना में संभली हुई है।

भारत में लाखों लोगों का जीवन लॉकडाउन से बचा

उन्होंने कहा, ‘ कोरोना वैश्विक महामारी के खिलाफ लड़ते हुए अब हम अनलॉक 2 के साथ साथ उस मौसम में भी प्रवेश कर रहे हैं जहां सर्दी-जुखाम, खांसी-बुखार के मामले बढ़ जाते हैं। ऐसे में, मेरी सभी देशवासियों से प्रार्थना है कि वे अपना ध्यान रखें।  उन्होंने कहा कि समय पर किए गए लॉकडाउन और अन्य फैसलों ने भारत में लाखों लोगों का जीवन बचाया है।

हमें ज्यादा सतर्कता की जरूरत

लेकिन जब से अनलॉक -1 हुआ है व्यक्तिगत और सामाजिक व्यवहार में लापरवाही भी बढती ही चली जा रही है। उन्होंने कहा, ‘ पहले हम मास्क को लेकर, दो गज की दूरी को लेकर, 20 सेकेंड तक दिन में कई बार हाथ धोने को लेकर बहुत सतर्क थे। लेकिन आज, जब हमें ज्यादा सतर्कता की जरूरत है, तो लापरवाही बढ़ना, चिंता का कारण है।’’  मोदी ने कहा कि पूर्णबंदी के दौरान पूरे देश ने नियमों का पालन किया लेकिन अब सरकारों और लोगों के स्तर पर अत्यधिक सतर्कता बरते जाने की जरूरत है।

कन्टेनमेंट जोन पर बहुत ध्यान देना होगा

उन्होंने कहा, ‘ विशेषकर कन्टेनमेंट जोन पर बहुत ध्यान देना होगा। जो भी लोग नियमों का पालन नहीं कर रहे, हमें उन्हें टोकना होगा, रोकना होगा और समझाना भी होगा। अभी आपने खबरों में देखा होगा, एक देश के प्रधानमंत्री पर 13 हजार रुपए का जुर्माना इसलिए लग गया, क्योंकि वो सार्वजनिक जगह पर बिना मास्क पहने गए थे। भारत में भी स्थानीय प्रशासन को इसी चुस्ती से काम करना चाहिए। ये 130 करोड़ देशवासियों के जीवन की रक्षा करने का अभियान है। भारत में गांव का प्रधान हो या देश का प्रधानमंत्री, कोई भी नियमों से ऊपर नहीं है।’’

यह हमारी प्राधमिकता

भूख से न मरे कोई यह हमारी प्राधमिकता रही जिसके तहत 20 करोड़ जन धन खातों में 31 हजार करोड़ रुपये जमा कराये गये। कोरोना से लड़ते हुए 80 करोड़ से ज्यादा लोगों को राशन 5 किलो गेंहू या चावल दिया गया। अमेरिका की कुल जनसख्ंया से ढाई गुना, ब्रिटेन की कुल जनसंख्या से 12 गुना अधिक लोगों को मुफ्त अनाज दिया गया।

अन्न योजना नवंबर तक

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना का दिवाली और छठ पूजा तक नवंबर महीने तक कर दिया जाएगा। 80 करोड़ लोगों को मुफ्त अनाज देने वाली योजना जुलाई से नवंबर तक लागू रहेगी। पांच महीने के लिए 80 करोड़ से ज्यादा भाई महीने के हर सदस्य को चावल या गेहूं मुफ्त दिया जाएगा। प्रत्येक परिवार को चना भी मुफ्त दिया जाएगा।

90 हजार करोड़ से ज्यादा रुपये खर्च होंगे

90 हजार करोड़ से ज्यादा रुपये खर्च होंगे।दो गज की दूरी का पालन करते रहिये। गमछा, मास्क का उपयोग करिये। आत्मनिर्भर भारत के लिए दिन राहत एक करेंगे । आत्मनिर्भर भारत के लिए दिन राहत एक करेंगे । लोकल से वोकल को आगे बढ़ायेंगे। 130 करोड़ देशवासियों को काम भी करना है । आगे भी बढ़ना है। दो गज की दूरी का पालन करते रहिये। गमछा, मास्क का उपयोग करते रहिये।

शेयर करें

मुख्य समाचार

ईसीएल ने 500 टन कोयला चोरी का पता लगाया था लेकिन कार्रवाई नहीं हुई

कोयला तस्करी मामले में रेलवे के वरिष्ठ अधिकारियों से सीबीआई ने की घंटों पूछताछ कोलकाता : ईस्टर्न कोलफिल्ड्स लिमिटेड (ईसीएल) के सतर्कता दल ने शिल्पांचल की आगे पढ़ें »

शुभेंदु ने शाह व नड्डा से कहा, ‘नंदीग्राम से बनना चाहता हूं उम्मीदवार’

पीएम की अध्यक्षता में हुई चुनावी कमेटी की बैठक नयी दिल्ली/कोलकाता : विधानसभा चुनाव में शुभेंदु अधिकारी नंदीग्राम से ही उम्मीदवार बनना चाहते हैं। दिल्ली में आगे पढ़ें »

ऊपर