ओम बिड़ला का लोकसभा स्पीकर बनना तय, दाखिल करेंगे नामांकन

नई दिल्ली: राजस्थान की कोटा-बूंदी लोकसभा सीट से भाजपा सांसद ओम बिड़ला का लोकसभा अध्यक्ष बनना तय माना जा रहा है। ओम बिड़ला ने इस बार के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस के रामनारायण मीणा को 2,79,677 वाटों से हराकर कोटा-बूंदी सीट से दूसरी बार जीत दर्ज की। खबरों के मुताबिक आज दोपहर के बाद ओम बिड़ला नामांकन दाखिल करेंगे।

दस दलों ने किया समर्थन

ओम बिड़ला के लोकसभा अध्यक्ष बनने के समर्थन को लेकर केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद जोशी ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, गृह मंत्री अमित शाह समेत कई नेताओं ने लोकसभा स्पीकर के लिए ओम बिड़ला के नाम को आगे किया था।‌ जिसके बाद दस दलों ने ओम बिड़ला के नाम का समर्थन किया है, जिनमें बीजू जनता दल (बीजद), शिवसेना, नेशनल पीपुल्स पार्टी, मिजो नेशनल फ्रंट, अकाली दल, लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा), वाईएसआर कांग्रेस, जदयू, अन्नाद्रमुक और अपना दल शामिल हैं। बताया जा रहा है कि इन सभी दलों ने प्रस्ताव पर हस्ताक्षर किए हैं। कांग्रेस के समर्थन पर प्रह्लाद जोशी ने कहा कि, कांग्रेस ने इसका विरोध न करने के संकेत दिए हैं। हांलांकि अभी तक कांग्रेस पार्टी ने प्रस्ताव पर हस्ताक्षर नहीं किए हैं।

परिवार ने जताई खुशी

लोकसभा अध्यक्ष बनने की खबर पर ओम बिड़ला के परिवार में बेहद उत्साह का माहौल है। ओम की पत्नी अमिता बिड़ला ने हर्ष जताते हुए कहा कि यह हमारे लिए बेहद गर्व और खुशी का पल है। ओम को लोकसभा अध्यक्ष पद के लिए चुनने पर पत्नी अमिता ने मंत्रालय का आभार व्यक्त किया है। इस मामले में मंगलवार को ओम बिड़ला भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा से मिलने पहुंचे थे लेकिन अपने लोकसभा अध्यक्ष बनने को लेकर उन्होनें कोई भी जानकारी देने से मना कर दिया। उन्होंने कहा कि वो सिर्फ बतौर कार्यकर्ता जेपी नड्डा से भेंट के लिए गए थे।

हमेशा से राजनीति में सक्रिय

4 दिसंबर 1962 को कोटा में जन्में ओम बिड़ला हमेशा से राजनीति के क्षेत्र में सक्रिय रहें हैं। उनका राजनीतिक जीवन छात्रसंघ चुनाव से शुरू हुआ। वो तीन बार राजस्थान विधानसभा के सदस्य रह चुके हैं साथ ही 2004 से 2008 तक राजस्थान सरकार में संसदीय सचिव के रूप में भी कार्यभार संभाल चुके हैं। इसके बाद उन्होंने 6 साल तक अखिल भारतीय जनता युवा मोर्चा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष का पद संभाला फिर भारतीय जनता युवा मोर्चा राजस्थान प्रदेश के प्रदेशाध्यक्ष बनें।

बता दें कि 16वीं लोकसभा की अध्यक्ष सुमित्रा महाजन थीं लेकिन इस साल उन्होंने चुनाव नहीं लड़ने का फैसला लिया।

शेयर करें

मुख्य समाचार

क्या सच में आज रात आ रहा है विजय माल्या भारत ?

नयी दिल्ली : देश के 17 बैंकों का 9 हजार करोड़ रुपये गबन कर भागे विजय माल्या के आज रात किसी भी वक्त भारत में आगे पढ़ें »

corona

बंगाल में कल से आज कुछ कम आए संक्रमण के मामले

कोलकाता : बंगाल में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस संक्रमण के मंगलवार की तुलना में आज (बुधवार) को 340 मामले आए है जबकि मंगलवार आगे पढ़ें »

ऊपर