तेल विपणन कंपनियां ओडिशा में 10 हजार ग्रामीण महिलाओं को बनाएंगी ‘उज्ज्वला दीदी’

भुवनेश्वरः ओडिशा में 10 हजार से अधिक ग्रामीण महिलाओं को ‘उज्ज्वला दीदी’ का दर्जा देकर उन्हें ऊर्जा दूत बनाया जाएगा। इसके तहत तेल विपणन कंपनियां वितरित एलपीजी कनेक्शन का इस्तेमाल जारी रखना सुनिश्चित करेंगी। इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन और एसएलसी ऑयल इंडस्ट्री के मुख्य महाप्रबंधक शुभजीत घोष ने कहा ‘10 हजार से अधिक उज्ज्वला दीदियों की पहचान की गयी है जो राज्य में जमीनी स्तर पर ऊर्जा के एंबेसडर का काम करेंगी।’ इनकी पहचान प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के लाभार्थियों में से ही की गई है। ये राज्य में वितरकों तथा मौजूदा एवं संभावित एलपीजी उपभोक्ताओं के बीच पुल का काम करेंगी।
लगभग 4 गुना बढ़ोतरी
गौरतलब है कि राज्य में एलपीजी उपभोक्ताओं की संख्या 2014 के 20 लाख से बढ़कर फरवरी 2019 में लगभग 78 लाख तक पहुंच गयी है। इससे एलपीजी घनत्व 2014 में जहां 20 प्रतिशत था वह बढ़कर 73 प्रतिशत तक पहुंच गया। घोष ने बताया कि राज्य में एलपीजी उपभोक्ताओं की वृद्धि में प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना का प्रमुख योगदान है।
गौरतलब है कि राज्य में यह योजना 20 जून 2016 को शुरू की गई थी। अभी‌ तक लगभग 39 लाख गरीब महिलाओं को एलपीजी कनेक्शन दिये जा चुके हैं। हालांकि, सफलतापूर्वक लागू की गई किसी भी योजना के लिये उसकी निरंतरता महत्वपूर्ण है। यही वजह है कि तेल विपणन कंपनियां उज्ज्वला दीदी की अवधारणा के साथ आगे आईं हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

देश के पहले मोबिलिटी फेस्टिवल में भविष्य के वाहनों की झलक दिखी

नई दिल्ली: भविष्य के व्यापार और वाहनों के लिए देश के पहले मोबिलिटी मिशन फेस्टिवल का पिछले दिनों नई दिल्ली में ईएमपीआई और नीति आयोग आगे पढ़ें »

दिल पर ही नहीं शरीर पर भी होता है रिश्ता टूटने का असर

नई दिल्ली : कभी न कभी जीवन में हर किसी का दिल टूटता है। लेकिन ब्रेकअप का नाता सिर्फ दिल से नहीं है। रिसर्च कहते आगे पढ़ें »

ऊपर