इनामी डकैत जगन गुर्जर ने फिर पुलिस के सामने हथियार डाले

चौथी बार किया है आत्मसमर्पण, सौ से अधिक मामले दर्ज हैं, बंदूक तथा पांच कारतूस बरामद
धौलपुर : पुलिस के निरंतर दबाव के बाद कुख्यात इनामी दस्यु जगन को पुलिस के सामने अपने हथियार डालने पर मजबूर होना पड़ा। चंबल के बीहड़ में सक्रिय जगन गुर्जर ने शुक्रवार की सुबह डांग इलाके में पुलिस के समक्ष आत्मसमर्पण कर दिया है। उसकी गिरफ्तारी पर 45 हजार रुपये का इनाम घोषित है। नागौर से सांसद हनुमान बेनीवाल ने उसके मुद्दे को लोकसभा में भी उठाया था। दस्यु जगन ने चौथी बार आत्मसमर्पण किया है। जिला पुलिस अधीक्षक डॉ.अजय सिंह ने बताया कि जगन गुर्जर ने बसई डांग थाना इलाके में बाबू महाराज के मंदिर के पास बीहड़ में आत्मसमर्पण किया। पुलिस ने उसके कब्जे से 315 बोर की एक बंदूक तथा पांच कारतूस बरामद किये हैं। करीब ढाई दशक पहले वर्ष 1994 में बीहड़ का रुख करने वाला जगन गुर्जर कई बार में गिरफ्तार हुआ और जमानत पर बाहर आया। धौलपुर जिले के एक गांव में 12 जून को दो महिलाओं से मारपीट कर उन्हें निर्वस्त्र घुमाने के बाद जगन गुर्जर एक बार फिर सुर्खियों में आ गया था। आत्मसमर्पण के बाद पुलिस की पूछताछ में उसने दो महिलाओं से मारपीट कर उन्हें निर्वस्त्र घुमाने की घटना से इनकार किया। जगन गुर्जर के खिलाफ धौलपुर तथा करौली समेत अन्य जिलों में सौ से अधिक मामले दर्ज हैं। गांव भवूतीपुरा पहुंची पुलिस की टीम पर पथराव करने के आरोप में पुलिस ने जगन गुर्जर की मां रामश्री तथा भाभी रज्जो देवी को गिरफ्तार किया था। जगन गुर्जर को पकड़ने के लिए पुलिस, आरएसी के जवान व इमरजेंसी रेस्पांस टीम के प्रशिक्षित कमांडो पखवाड़े भर से खोज अभियान में लगे थे।

शेयर करें

मुख्य समाचार

हॉकी इंडिया की कप्तान रानी खेल रत्न और वंदना, मोनिका, हरमनप्रीत अर्जुन के लिए नामित

नयी दिल्ली : हॉकी इंडिया ने भारतीय महिला टीम की कप्तान रानी का नाम देश के सर्वोच्च खेल सम्मान राजीव गांधी खेल रत्न तथा वंदना आगे पढ़ें »

घरेलू क्रिकेट में पहली बार सीएबी ने खिलाड़ियों की आंखों की जांच को किया ‘अनिवार्य’

कोलकाता : बंगाल क्रिकेट संघ (कैब) ने कोविड-19 से जुड़े प्रतिबंधों को हटने के बाद फिर से शिविर लगाने पर अंडर-23 और सीनियर टीम के आगे पढ़ें »

ऊपर