असमय मृत्यु से बचाता है शारीरिक सक्रियता

दुनिया भर में शारीरिक सक्रियता से लगभग 40 लाख लोग असमय मृत्यु से बच जाते हैं। यह तथ्य कैम्ब्रिज व एडिनबर्ग विश्वविद्यालयों के शोधकर्ताओं द्वारा किए गए एक शोध में पाया गया है। शोधकर्ताओं ने 168 देशों के पूर्व प्रकाशित आंकड़ों का अध्ययन किया, जिसके अनुसार डब्ल्यू एच ओ द्वारा एक सप्ताह में 150 मिनट की मध्यम सक्रिय एरोबिक क्रिया या 75 मिनट की अति सक्रिय एरोबिक क्रिया करने को कहा गया है। हर देश में इस पर चलने वालों की संख्या में काफी अंतर था जो ब्रिटेन में 64 प्रतिशत है, मोजाम्बीक में 94 प्रतिशत था।
इससे समय पूर्व मृत्यु की दर में 15 प्रतिशत की कमी हुई
शोधकर्ताओं ने इन आंकड़ों का अध्ययन करने पर पाया कि शारीरिक सक्रियता से समय पूर्व मृत्यु की दर में 15 प्रतिशत की कमी हुई। हर देश में शारीरिक सक्रियता की दर अलग होने के बावजूद उन्होंने यह पाया कि शारीरिक सक्रियता समय पूर्व मृत्यु की दर में कमी लाती है। साथ ही उन्होंने शारीरिक सक्रियता बढ़ाने हेतु कुछ सुझाव भी दिए हैं।
नित्य सैर पर जाएं, दौड़ें या साइकिल चलाएं
शोधकर्ताओं ने लोगों से कहा है कि नित्य सैर हेतु जाएं, दौड़ें या साइकिल चलाएं जो भी उनके लिए संभव हो। अपनी मांसपेशियों और जोड़ों को सक्रिय और दर्द रहित रखने के लिए योग और स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज करें। यदि आपके घर में गार्डन है तो गार्डन में कुछ समय काम करें जो शरीर को लचीला और सक्रिय बनाए रखने में सहायक सिद्ध होगा। यदि संभव हो तो पार्क में जाकर व्यायाम करें जिससे कई मानसिक स्वास्थ्य लाभ भी मिलेंगे। यदि इनमें से कुछ भी संभव न हो तो किसी ऑनलाइन एक्सरसाइज सैशन से जुड़ें।

शेयर करें

मुख्य समाचार

लगभग पांच महीने के बाद स्क्वाश खिलाड़ियों ने शुरू किया अभ्यास

चेन्नई : भारत की शीर्ष महिला स्क्वाश खिलाड़ी जोशना चिनप्पा ने कोविड-19 महामारी के कारण लगभग पांच महीने के बाद सोमवार को भारतीय स्क्वाश अकादमी आगे पढ़ें »

थॉमस और उबेर कप बैडमिंटन फाइनल्स में भारत को मिला आसान ड्रा

नयी दिल्ली : भारत को डेनमार्क के आरहूस में तीन से 11 अक्टूबर तक होने वाले थॉमस और उबेर कप बैडमिंटन फाइनल्स में आसान ड्रा आगे पढ़ें »

ऊपर