अच्छी सेहत और घर की पवित्रता बनाए रखता है हवन

कोलकाताः आपने कभी ना कभी अपने घर में हवन करवाया होगा या आप कभी किसी और के घर में हवन में मौजूद रहे होंगे। आपने यह महसूस किया होगा कि हवन के साथ आपके अंदर भी सकारात्मक शक्ति का संचार हुआ है। हवन करवाने से ना ही सिर्फ आपको मानसिक शांति मिली होगी बल्कि आपकी‌‌ शारीरिक सक्षमता भी बढ़ी होगी। एक नहीं बल्कि कई शोध में यह बताया गया है कि हवन करवाने से इंसान को एक प्रदूषण मुक्त वातावरण मिलता है इसके साथ वह एक अच्छे सेहत का लाभार्थी भी होता है। सनातन धर्म के शास्त्र ऋग्वेद में भी इस बात का उल्लेख मिलता है कि हवन करवाने से इंसान कई बीमारियों से मुक्त हो जाता है।

आप अगर किसी हवन में गए होंगे तो आपने यह देखा होगा कि अक्सर हवन में बेल, नीम,‌ कलीगंज, आम की लकड़ी, पीपल की छाल और तना, पलाश का पौधा, तिल, देवदार की जड़, अश्वगंधा की जड़, आम की पत्ती और तना, गूलर की छाल और पत्ती, बेर, कपूर, शक्कर, जौ, चावल, चंदन की लकड़ी, इलायची, लौंग, जामुन की पत्ती, मुलेठी की जड़, लोभान, बहेड़ा का फल, हर्रे तथा घी का इस्तेमाल अत्यधिक किया जाता है। जानकार बताते हैं कि यह सभी सामग्रियां इंसान के स्वास्थ्य के लिए बेहद लाभकारी होती हैं।

इतना ही नहीं, हवन में गाय के गोबर से बने उपलों का भी प्रयोग किया जाता है जिनसे वातावरण में मौजूद 94 प्रतिशत जीवाणुओं का खात्मा हो जाता है। हवन करवाने से ना ही सिर्फ घर की शुद्धि होती है बल्कि आत्म शुद्धि भी होती है। हवन करवाने से संजीवनी शक्ति का संचार होता है तथा कई हानिकारक बीमारियों से छुटकारा भी मिलता है।

क्या कहता है विज्ञान?

विज्ञान की मानें तो, हवन के दौरान मंत्रों का जाप करने से ध्वनि तरंगित होती हैं या अनेक प्रकार के ध्वनि का संचार होता है जिनका स्वभाव सकारात्मक होता है। यह ध्वनि मानवीय शरीर में ऊर्जा का संचार करती हैं। इसीलिए, घर में हवन करवाना बेहद लाभदायक माना जाता है।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

पानीहाटी में तृणमूल कार्यालय पर बमबारी

पानीहाटी : खड़दह थाना अंतर्गत पानीहाटी के एंजेल नगर इलाके में कुछ समाज विरोधियों ने पहले बमबारी की। इसके बाद बीटी रोड मातारंगी भवन नामक आगे पढ़ें »

ऊपर