फाइजर और बायोएनटेक के कोरोना टीके को ब्रिटेन में मंजूरी

अगले हफ्ते टीकाकरण शुरू होने की उम्मीद
लंदन: कोरोना वैक्सीन को ब्रिटेन ने मंजूरी दे दी। ब्रिटेन पहला ऐसे पश्चिमी देश है जिसने कोविड-19 के लिए किसी वैक्सीन को लाइसेंस दिया है। इसके साथ ही ऐसे लोगों को वैक्सीन दी जाएगी जिन्हें इन्फेक्शन का ज्यादा खतरा है। वैक्सीन को मेडिसिन्स ऐंड हेल्थकेयर प्रॉडक्ट्स रेग्युलेटरी अथॉरिटी ने इसकी इजाजत दे दी है। यूके ने अमेरिकी फार्मा कंपनी फाइजर और जर्मन कंपनी बायोएनटेक की जॉइंट कोरोना वैक्सीन को बुधवार को इमरजेंसी अप्रूवल दे दिया। अगले हफ्ते से ब्रिटेन के लोगों को इसके टीके लगने शुरू हो जायेंगे। ब्रिटेन में राष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवा (एनएचएस) कर्मियों को 7 दिसंबर से टीका लगाने की शुरुआत की जा सकती है।
यह कोरोना वैक्सीन फेज-3 ट्रायल में 95% असरदार साबित हुई है। ब्रिटेन के वैक्सीन मंत्री नादिम जहावी ने कहा गया है कि अगर सब कुछ योजना के अनुसार होता है और फाइजर और बायोएनटेक द्वारा विकसित वैक्सीन को प्राधिकरण की मंजूरी मिलती है तो उसके कुछ ही घंटों में वैक्सीन का वितरण और टीकाकरण शुरू कर दिया जाएगा। जरूरी तैयारियां को अंतिम रूप दिया जा रहा है।
फाइजर ने ही अमेरिका में भी इमरजेंसी यूज अप्रूवल के लिए एफडीएस के पास आवेदन किया है। अब तक फाइजर-बायोएनटेक, मॉडर्ना, रूस के स्पूतनिक वी और ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी-एस्ट्राजेनेका के वैक्सीन के ही फेज-3 के नतीजे सामने आए हैं। यूके ने सात अलग-अलग प्रोड्यूसर्स से 35 करोड़ वैक्सीन खरीदने पर सहमति जतायी है।

.

शेयर करें

मुख्य समाचार

सबसे अधिक मतदाता संख्या वृद्धि में अव्वल द‌क्षिण 24 परगना

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाताः मतदाताओं की संख्या में वृद्धि के मामले में दक्षिण 24 परगना अव्वल है। आंकड़े यही दर्शाते हैं। चुनाव आयोग के अनुसार जिले में आगे पढ़ें »

जम्मू में 150 मीटर लंबी व 30 फीट गहरी सुरंग का बीएसएफ ने लगाया पता

नई दिल्ली : बीएसएफ को कठुआ (जम्मू-कश्मीर) के पंसार इलाके में अंतर्राष्ट्रीय सीमा के पास 150 मीटर लंबी और 30 फीट गहरी सुरंग मिली है। आगे पढ़ें »

ऊपर