अगर आप भी करते हैं ये गलतियां तो आपके घर में नहीं टिकेगा पैसा

कोलकाता : कई बार मेहनत से कमाया हुआ पैसा भी बेफिजूल में खर्च होने लगता है। अगर यह हमारे साथ होता तो हमें बेहद दुख होता है। हालांकि, यह जरूरी नहीं कि यह खर्च किसी फिजूल काम के लिए ही हों, कई बार यह किसी को उधार देने या फिर बीमारियों के इलाज होने के लिए भी खर्च हो जाता है। कई बार यह वास्तु दोष के चलते भी होती है। इससे घर में नकारात्मक हावी होने लगती है। बने हुए काम भी बिगड़ जाते हैं। हर काम में असफलता रहने लगती है। वास्तुशास्त्र के अनुसार, कई बार इस तरह की घटनाएं बढ़ जाती हैं जब आप चाहें कितनी भी कोशिश क्यों न कर लें आपका पैसा घर में टिकता ही नहीं है। हम आपको में इन्हीं वास्तु दोषों के बारे में बता रहे हैं….

1. अगर आपके घर में पानी की ज्यादा बर्बादी हो रही है तो यह अशुभ माना जाता है। बेकार में पानी बहना घर से बेफिजूल पैसा निकासी की वजह बन सकता है। इससे चंद्रमा कमजोर होता है। साथ ही घर में पैसा संबंधी परेशानियां भी होने लगती हैं।
2. अगर घर पर कोई भी घड़ी रुकी हुई होती है तो इससे घर में नकारात्मक ऊर्जा का विस्तार होता है। इससे घर में किसी भी कार्य में सफलता मिलने में काफी समय लग जाता है।

3. आपके घर का मेनगेट हमेशा साफ होना चाहिए। यह दिखने में सुंदर भी होना चाहिए। अगर यहां अंधेरा होता है तो यहां हमेशा रोशनी रखनी चाहिए।

4. अगर आपके घर में सूखे पौधे हैं तो यह आपकी तरक्की में बाधा बन सकते हैं। घर के आंगन में लगे पौधों की आपको पूरी देखभाल करनी होगी।
5. बाथरूम और रसोई के पानी के पाइप की निकासी का मुंह उत्तर,पूर्व या उत्तर-पूर्व में होना चाहिए। यह शुभ होता है।

6. बाथरूम के सामने या बगल में रसोईघर में नहीं होना चाहिए। इससे घर में नकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है।

7. घर के सामने किसी तरह का कोई पेड़, बिजली का खंभा और बड़ा पत्थर नहीं होना चाहिए। इससे धन की हानि होती है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

पैरेंट्स ने नहीं दिलाया कुत्ता तो बेटे ने कर ली…

विशाखापट्टनम : एक नाबालिग लड़के ने सिर्फ इसलिए खुदकुशी कर ली कि उसे माता-पिता ने घर में पालने के लिए कुत्ता लाने से मना कर आगे पढ़ें »

5000 हेल्थ अस्टिटेंट को दी जाएगी मरीजों की देखभाल की ट्रेनिंग : केजरीवाल

नई दिल्ली : राज्यों ने जानलेवा कोरोना वायरस की संभावित तीसरी लहर से निपटने की तैयारी शुरू कर दी है। इसी क्रम में दिल्ली सरकार भी आगे पढ़ें »

ऊपर