इलाहाबाद विवि जा रहे पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश को एयरपोर्ट से ही लौटे

लखनऊ : उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्मयंत्री अखिलेश यादव को मंगलवार को अमौसी एयरपोर्ट पर प्रयागराज जाने से रोक दिया गया। अखिलेश एक छात्र नेता के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने इलाहाबाद विश्वविद्यालय जा रहे थे। उनका कुंभ जाने का भी कार्यक्रम था। वहीं अखिलेश को रोके जाने के मुद्दे पर संसद, विधानसभा और विधानपरिषद में जोरदार हंगामा हुआ। इस बीच, सरकार ने कहा कि अखिलेश को रोकने का फैसला इलाहाबाद विश्वविद्यालय के आग्रह पर लिया गया। उधर, प.बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा- देश में रुकावट के लिए खेद है जैसी स्थिति बन गई है। देश में ऐसी स्थिति हो गई है कि लोगों को एक स्थान से दूसरे स्थान तक जाने नहीं दिया गया। इससे पहले देश में ऐसी स्थिति कभी नहीं बनी। वहीं अखिलेश ने ट्वीट कर अमौसी एयरपोर्ट पर हिरासत में लिए जाने की जानकारी दी। अखिलेश ने लिखा कि एक छात्र नेता के शपथ ग्रहण कार्यक्रम से सरकार इतना डर गई है कि मुझे हवाई अड्डे पर रोका जा रहा है।
सरकार और प्रशासन बम फेंकने वालों की मदद कर रहा : अखिलेश
प्रयागराज से लौटने के बाद नाराज अखिलेश ने तत्काल प्रेस कॉन्फ्रेंस बुलाई और अपनी भड़ास निकाली। अखिलेश ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि हमने विवि का कार्यक्रम 27 दिसंबर को ही भेज दिया था ताकि कोई शिकायत हो तो उसकी जानकारी मिल जाए। भाजपा और उनके समर्थक इलाहाबाद विश्वविद्यालय के चुनावों को अपना चुनाव समझ रहे थे। सरकार और सभी मंत्री इस चुनाव में शामिल हो रहे थे। मुख्यमंत्री जब भी विश्वविद्यालय जाते थे, तब वह जरूर अपने लोगों को यह आदेश दे रहे होंगे कि इन चुनावों में किसी भी कीमत पर हार ना हो। अब जब शपथ ग्रहण समारोह होने जा रहा था, तब वहां तीन बम फेंके गए। जहां मंच था, वहां पर विस्फोट हुए। सरकार और प्रशासन ने उन लोगों के खिलाफ कोई एक्शन नहीं लिया, जिन्होंने ये काम किया। लोकतंत्र में यह पहली बार हुआ है कि सरकार और प्रशासन ऐसे लोगों की मदद कर रहे हैं, जो किसी कार्यक्रम में बम फेंक रहे हैं।
योगी बोले- यूनिवर्सिटी के आग्रह पर लिया फैसला
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रयागराज में कुंभ चल रहा है। अभी तक वहां कई कार्यक्रम सफलतापूर्वक हुए हैं। इलाहाबाद विश्वविद्यालय ने आग्रह किया था अखिलेश यादव के प्रयागराज पहुंचने से छात्र संगठनों के बीच हिंसा भड़क सकती है, जिससे वहां कानून-व्यवस्था में गड़बड़ी पैदा हो सकती है। इसी आधार पर सरकार ने अखिलेश को रोकने का फैसला किया। समाजवादी पार्टी को ऐसी अराजकतावादी गतिविधियों से रोका जाना चाहिए। योगी ने बताया कि इलाहाबाद विश्वविद्यालय के रजिस्ट्रार ने सोमवार को अखिलेश यादव के निजी सचिव को पत्र लिखकर कहा था कि विश्वविद्यालय के कार्यक्रम में किसी भी नेता को आने की अनुमति नहीं है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

सोशल मीडिया पर समझदारी से बात करें अफरीदी और गंभीर : वकार

नयी दिल्ली : पाकिस्तान के गेंदबाजी कोच वकार युनूस ने क्रिकेट टीम के अपने पूर्व साथी शाहिद अफरीदी और भारतीय के पूर्व सलामी बल्लेबाज गौतम आगे पढ़ें »

होंडा ने पेश किया होंडा सीडी 110 ड्रीम बीएस VI, जानिए कीमत और खासियत

नई दिल्ली : टू-व्हीलर निर्माता कंपनी होंडा मोटरसाइकिल ने आज नई होंडा सीडी 110 ड्रीम बीएस VI लॉन्च किया है, इस नेक्स्ट जेनरेशन बाइक में आगे पढ़ें »

ऊपर