विकास योजनाओं के ‘ब्रांड एंबेस्डर’ हैं ग्राम प्रधान : योगी

वाराणसी : उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ग्राम प्रधानों को विकास का वास्तविक ‘ब्रांड एंबेस्डर’ बताते हुए केंद्र एवं राज्य सरकारों की योनाजनाएं एवं विकास कार्यों को लागू करवाने में सक्रिय भूमिका निभाने की अपील की। योगी ने रविवार को वाराणसी में ‘मुख्यमंत्री-ग्राम प्रधान संवाद’ कार्यक्रम में कहा कि कई मामलों में ग्राम प्रधानों के पास विधायक एवं सांसद से भी अधिक अधिकार हैं, जिसका उपयोग बिना भेदभाव के किया जाना चाहिए। ग्राम प्रधान को अधिकार है कि वह अपने क्षेत्र के किसी बीमार व्यक्ति की मदद के लिए 5000 रुपये तक की राशि अपने विवेक के आधार पर तत्काल मंजूर कर सकता है। इसी प्रकार के कई अधिकार उन्हें प्राप्त है। प्रत्येक 20 हजार की आबादी वाले ग्राम प्रधान के पास साल में दो करोड़ रुपये विकास कार्यों पर खर्च के लिए मिलते हैं, जबकि विधायक को मात्र एक करोड़ 40 लाख रुपये अपने क्षेत्र के विकास के लिए मिलते हैं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मंशा के अनुसार ‘गांव की सरकार’ को हर मामले में अधिकार संपन्न किये गये हैं। मोदी के स्वच्छ भारत अभियान वराणसी के ग्राम प्रधानों ने काफी सराहनीय कार्य किया है। योगी ने सराहनीय कार्य करने वाले ग्राम प्रधानों को 4000-4000 रुपये का पुरस्कार देकर सम्मानित किया।
योगी ने कहा कि मोदी ने पिछले चार वर्षों के कार्यकाल में बिना कोई रकम जमा कराये 32 करोड़ गरीबों के बैंक खाते खुलवाये गये हैं। इसके माध्यम से उन्हें केंद्रीय योजनाओं का लाभ पहुंचाने का कार्य किया जा रहा है। अनुसूचित जाति एवं जनजाति वर्ग के लोगों को आसान शर्तों पर एक करोड़ रुपये तक का लोन एवं सभी के लिए मुद्रा योजना के 50 हजार से 10 लाख रुपये का लोन मुहैया कराने के कारण देशभर में बड़ी संख्या में लोगों को रोजगार मिले हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

अपराध

ई मित्र केंद्र के संचालक से 4 लाख की ठगी

श्रीगंगानगर : राजस्थान में श्रीगंगानगर जिले के सूरतगढ़ में एक ई-मित्र केंद्र के संचालक से चार लाख की ऑनलाइन ठगी करने का मामला शुक्रवार को आगे पढ़ें »

योगी आदित्यनाथ ने बदायूं के 13 अधिकारियों को किया निलंबित, विभागीय जांच का भी आदेश

लखनऊ : उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भ्रष्टाचार के प्रति बिल्कुल भी बर्दाश्त नहीं करने की नीति पर बड़ी कार्रवाई करते हुए बदायूं आगे पढ़ें »

ऊपर