योगी पर असंसदीय भाषा के इस्तेमाल का आरोप, विपक्ष ने काली पट्टी बांधकर जताया विरोध

लखनऊ : उत्तर प्रदेश विधानसभा के मानसून सत्र में गुरुवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर असंसदीय भाषा का इस्तेमाल करने का आरोप लगाते हुए विपक्ष ने जमकर हंगामा किया और उनके बयान को सदन की कार्यवाही से हटाने की मांग की। सदन की कार्यवाही शुरू होते ही नेता विपक्ष रामगोविंद चौधरी ने योगी के‘सांप का बच्चा जहर ही उगलता है’वाले बयान को विपक्ष के खिलाफ असंसदीय भाषा का इस्तेमाल करना बताया। इसके बाद समाजवादी पार्टी समेत समूचे विपक्ष के सदस्य हंगामा करने लगे और आसन के पास तक चले गये। संसदीय कार्य मंत्री सुरेश खन्ना ने योगी के बुधवार को सदन में दिये गये बयान पर सफाई देते हुए कहा कि उन्होंने किसी व्यक्ति विशेष के लिये टिप्पणी नहीं की। वे तो सिर्फ एक उदाहरण दे रहे थे। खन्ना के जवाब से असंतुष्ट विपक्ष योगी के वक्तव्य को सदन की कार्यवाही से हटाने की मांग पर अड़ा रहा। योगी के बयान के खिलाफ विरोध दर्ज करने के लिये विपक्षी सदस्यों ने काली पट्टी बांध कर सदन की कार्यवाही में हिस्सा लिया। इस हंगामे के दौरान हालांकि योगी मौजूद नहीं थे। चौधरी ने विपक्ष का पक्ष रखते हुए कहा कि मुख्यमंत्री ने सदन की परंपराओं का अपमान किया है। उन्होंने सांप और नेवला जैसे शब्दों को रिकार्ड से हटाने की मांग की। सदन में बसपा के नेता लालजी वर्मा ने कहा कि राजनीतिक दलों की तुलना जानवरों से करना अलोकतांत्रिक है। कांग्रेस के अजय कुमार लल्लू ने कहा कि मुख्यमंत्री गली कूचों में इस्तेमाल होने वाली भाषा का इस्तेमाल कर रहे हैं। हालांकि खन्ना ने योगी का बचाव करते हुए कहा कि उन्होंने जानवर का नाम उदाहरण के तौर पर लिया था और इस शब्द को रिकार्ड से हटाने की जरूरत नहीं है। स्पीकर हृदयनारायण दीक्षित ने सत्ता पक्ष और विपक्ष की दलील सुनने के बाद अपना फैसला सुरक्षित रख लिया।

शेयर करें

मुख्य समाचार

cricket

भारत ने दक्षिण अफ्रीका को पारी और 202 रन से हराया, 3-0 से किया क्लीनस्वीप

रांची : रांची के जेएससीए स्टेडियम में खेले गए तीसरे और अंतिम टेस्ट मैच में मंगलवार को भारत ने शानदार आलराउंड प्रदर्शन के दम पर आगे पढ़ें »

dhankhad

बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ बोले, ‘मैं राज्य सरकार के अधीन नहीं’

कोलकाता : पश्चिम बंगाल में राज्य सरकार तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) और राज्यपाल जगदीप धनखड़ के बीच जारी तनातनी बढ़ती जा रही है। दरअसल इस विवाद आगे पढ़ें »

ऊपर