परिवार को बचाने व भ्रष्टाचार को छुपाने के लिए किया गया था सपा-बसपा गठबंधन : द्विवेदी

बस्ती : भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता सांसद हरीश द्विवेदी ने कहा कि सपा-बसपा गठबंधन अपने परिवार को बचाने और भ्रष्टाचार को छुपाने के लिए किया गया था। बुधवार को द्विवेदी ने पत्रकारों से कहा कि इस गठबंधन की न कोई दृष्टि थी न कोई सोच। जनहित से उस लेना देना नहीं था। बसपा अध्यक्ष मायावती द्वारा एक जाति विशेष पर वोट न देने के आरोप की निंदा करते हुए कहा कि जनता ने सपा-बसपा की जातीय राजनीति को नकार दिया। इसके बावजूद मायावती अपनी आदतों से बाज नहीं आ रही हैं। मतदाता चाहे किसी भी जाति-धर्म या वर्ग हो वह किसी राजनीतिक दल का बंधुआ मजदूर नहीं होता। हर मतदाता को यह अधिकार होता है कि वह राजनीतिक दलों द्वारा जनता के किये गये वादों और जनता के लिए किये गये कार्यों को आधार बनाकर अपनी पसंद या नापसंद के अनुसार अपने मत का प्रयोग करे। बसपा प्रमुख अपनी गलतियों से सबक लेने के बजाय किसी न किसी जाति-धर्म या वर्ग पर हार का ठीकरा फोड़ती हैं। अपने पिता की राजनीतिक और परिवारिक विरासत को संभाल पाने में सपा के अध्यक्ष अखिलेश यादव नाकाम साबित हुए हैं। मायावती ने तो गठबंधन के पहले दिन से ही अखिलेश को अपरिपक्व और अनुभवहीन साबित करने में कोई कसर नहीं छोड़ी। द्विवेदी ने कहा कि जनता इन जातिवाद और धर्म की राजनीति करने वाले लोगों दलों को अब बर्दाश्त नहीं करेगी। चाहे वो अकेले चुनाव लड़े या साथ मिलकर।

शेयर करें

मुख्य समाचार

देशभर में 30 जून तक के लिए बढ़ा लॉकडाउन

नयी दिल्ली : देशभर में 30 जून तक के लिए बढ़ा लॉकडाउन ।  सरकार द्वारा जारी गाइडलाइंस के अनुसार धार्मिक स्थलों को खोले जाने की आगे पढ़ें »

बेहद साधारण होगा लॉकडाउन 5.0 : जावेड़कर

नई दिल्ली : देशभर में कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव के लिए लागू लॉकडाउन के 67 वें दिन केंद्रीय पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावेड़कर ने कहा आगे पढ़ें »

ऊपर