संवैधानिक अधिकार का बोध होना जरूरी : कलराज मिश्र

kalraj mishra

जयपुर : राजस्थान के राज्यपाल कलराज मिश्र ने कहा है कि संविधान ने हमें अधिकार और कर्तव्य दोनों दिये है, लेकिन मौलिक अधिकारों के साथ कर्तव्यों का भी बोध होना जरूरी है।
कलराज मिश्र मंगलवार को यहां राजभवन में संविधान दिवस पर आयोजित समारोह को संबोधित कर रहे थे। इससे पहले सचिव सुबीर कुमार ने 70वें संविधान दिवस पर राज्पाल मिश्र के समक्ष 70 लोगों को संविधान की प्रस्तावना का वाचन करवाया। इस अवसर पर कलराज मिश्र ने डॉ. भीमराव अंबेडकर के चित्र पर माल्यार्पण कर श्रद्धांजलि अर्पित करने के बाद कहा कि भारत की शासन प्रणाली कैसी होगी, राष्ट्र के विधि-विधान क्या होंगे, इनका उल्लेख संविधान में किया गया है। उन्होंने कहा कि लोकतांत्रिक प्रक्रिया के स्वरूप और संरचना को संविधान में बताया गया है। संविधान की मूल भावना प्रस्तावना में है। उन्होंने कहा कि संविधान की मूल भावना के अनुरूप भारत के नागरिकों को अनुच्छेद 51-क में उल्लेखित कर्तव्यों के अनुरूप आचरण एवं व्यवहार करना होगा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

उड़ान की लैंडिंग के बाद अब झटपट यात्री विमान से निकल सकेंगे बाहर

सन्मार्ग संवाददाता,कोलकाता : उड़ान परिसेवा को दुरुस्त बनाने के लिए एयरपोर्ट अथारिटी ऑफ इंडिया नयी-नयी तकनीकियों और अवसरों पर काम करता आ रहा है। ऐसे आगे पढ़ें »

हावड़ा के सैकड़ों एटीएम हैं असुरक्षित-सीपी

सन्मार्ग संवाददाता,हावड़ा : एटीएम स्कीमिंग फ्रॉड के मामले सामने आने के बाद गुरुवार को हावड़ा पुलिस आयुक्त गौरव शर्मा ने कुछ बैंक अधिकारियों के साथ आगे पढ़ें »

ऊपर