पाकिस्तान की जेल में मिला एक और लापता भारतीय

जयपुर : राजस्थान के बूंदी जिले में अपने घर से पांच साल पहले लापता हुआ एक व्यक्ति पाकिस्तान की एक जेल में मिला। राजस्थान में पिछले एक पखवाड़े में इस तरह की यह दूसरी घटना है। पिछले महीने भी 36 साल से लापता जयपुर का एक व्यक्ति पाकिस्तान की जेल में बंद मिला था।
नये मामले में अधिकारियों को यह पता नहीं चला है कि रामपुरिया गांव से जुगराज भील (अब 25 वर्ष) भटकता हुआ पाकिस्तान कैसे पहुंच गया। बूंदी जिले के पुलिस अधीक्षक योगेश यादव ने बताया, ‘हमसे जुगराज भील की राष्ट्रीयता के संबंध में सूचना मांगी गयी थी।’ उन्होंने बताया कि युवक पाकिस्तान की जेल में बंद है। हम डाबी पुलिस स्टेशन क्षेत्र में पड़ने वाले रामपुरिया गांव में उसके परिवार के सदस्यों से मिले। पुलिस ने बताया कि जुगराज के 60 वर्षीय पिता भैंरो भील ने उसकी पहचान की है। यादव ने बताया, ‘जुगराज के परिजनों ने बताया कि वह मानसिक रूप से परेशान था लेकिन उन्हें यह नहीं पता कि वह पाकिस्तान कैसे चला गया।’ उन्होंने बताया कि पिछले महीने जुगराज भील के बारे में प्रदेश पुलिस मुख्यालय ने सूचना मांगी गयी थी।

एसे अन्य लेख

Leave a Comment

अन्य समाचार

ईडी के दफ्तर पहुंचे वाड्रा और उनकी मां मौरीन

जयपुरः कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के बहनोई रॉबर्ट वाड्रा व उनकी मां मौरीन मंगलवार सुबह यहां प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के क्षेत्रीय कार्यालय पहुंचे। निदेशालय के अधिकारी राजस्थान के सीमावर्ती बीकानेर जिले में कथित जमीन घोटाले के [Read more...]

वाड्रा से अब बीकानेर केस के सिलसिले में होगी पूछताछ

ईडी के सामने कल अपनी मां के साथ पेश होंगे।। भारत-पाक सीमा वाले संवेदनशील इलाके में जमीन आवंटन में फर्जीवाड़े का आरोप।। नयी दिल्ली/जयपुर : राजस्थान के बीकानेर में एक कथित जमीन घोटाले की जांच के सिलसिले में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल [Read more...]

मुख्य समाचार

सिद्धू के समर्थन में उतरे कपिल शर्मा

नई दिल्लीः पुलवामा हमले पर दिए गए बयान के बाद नवजोत सिंह सिद्धू को जमकर किए जा रहे विरोध का सामना करना पड़ रहा है। जहां एक ओर उन्हें कॉमेडी शो द कपिल शर्मा शो  से बाहर का रास्ता दिखा दिया गया, वहीं [Read more...]

बड़ा फैसलाः बिहार में पूर्व मुख्यमंत्रियों को अब नहीं मिलेगा सरकारी आवास

पटनाः पटना हाईकोर्ट ने बिहार के पूर्व मुख्यमंत्रियों को आजीवन मिलने वाली सरकारी आवास की सुविधा समाप्त कर दी है। चीफ जस्टिस ए पी शाही की खंडपीठ ने मामले पर स्वतः संज्ञान लेते हुए सुनवाई पूरी कर फैसला सुरक्षित रखा था, [Read more...]

ऊपर