कलयुगी मां ने 2 माह के बीमार नवजात को चौथी मंजिल से फेंका, मौत

Kalyugi mother throws two-month sick neon from fourth floor, death

लखनऊ : मां की ममता के बारे में सदियों से किस्से और कहानियां सुनने को मिलती रही हैं लेकिन अब इसके ठीक पलट कई घटनाएं सामने आती रहती हैं जिनको सुनने के बाद दिल दहल जाता है। लखनऊ के किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी में मंगलवार को एक कलयुगी मां ने ममता को कलंकित करते हुए अपने दो माह के नवजात बच्चे को चौथी मंजिल से नीचे फेंक दिया जिससे बच्चे की तुरन्‍त मौत हो गई। घटना के फौरन बाद ही यूनिवर्सिटी प्रशासन ने पुलिस को खबर की और महिला को गिरफ्तार कर लिया गया।

दो माह से अस्पताल में भर्ती था बच्चा

शांति नाम की इस महिला को 26 मई को सात माह का एक लड़का पैदा हुआ। समय से पहले पैदा होने के कारण बच्‍चा बहुत बीमार और दुर्बल था। बच्चे का वजह महज 750 ग्राम था। इन्हीं कारणों से उसे ट्रॉमा सेंटर की चौथी मंजिल पर पीडियाट्रिक इमरजेंसी विभाग में रखा गया था और पिछले दो महीनों से उसका ईलाज जारी था। किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी के प्रवक्ता डॉ संदीप तिवारी ने बताया कि बच्चे की हालत में धीमी गति से सुधार हो रहा था। डॉ तिवारी ने बताया कि आज सुबह उसकी मां शांति अपने बच्चे के साथ थी। अचानक महिला ने अपने बच्चे को उठाकर चौथी मंजिल पर स्थित वार्ड की खिड़की के बाहर फेंक दिया। चौथी मंजिल से फेंकें जाने के कारण बच्चे की तत्काल मौत हो गयी।

मानसिक रुप से परेशान हो गई थी मां

मामले की जांच चौक कोतवाली के पुलिस क्षेत्राधिकारी दुर्गा प्रसाद तिवारी कर रहे हैं। महिला से पूछताछ करके उन्होंने बताया कि दो माह से ईलाज के बावजूद बच्चे के ठीक ना होने के कारण वह मानसिक रूप से परेशान हो गयी थी। उसने कैसे और किन कारणों से बच्चे को फेंका उसे भी इस बात की जानकारी नहीं है। उन्होंने कहा कि इस संबंध में ट्रॉमा सेंटर के क्लोज सर्किट कैमरे (सीसीटीवी) फुटेज के आधार पर जांच की जा रही है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

सोनम वांगचुक के चीनी उत्पादों के बहिष्कार अभियान को व्यापारियों का मिला समर्थन

नई दिल्ली : कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) ने कहा है कि देश के सात करोड़ व्यापारी लद्दाख के शैक्षिक सुधारक सोनम वांगचुक के आगे पढ़ें »

पूर्व पाक कप्तान हनीफ का दावा, 1983 में हॉकी टीम के सदस्‍य तस्‍करी में लिप्‍त थे 

कराची : पाकिस्तान के पूर्व हॉकी कप्तान हनीफ खान ने आरोप लगाया कि 1983 में हांगकांग से वापस आते समय उनकी टीम के कुछ खिलाड़ियों आगे पढ़ें »

ऊपर