दुमका में सड़क लूटकांड मामले में दो गिरफ्तार

दुमका : झारखंड में दुमका जिले के गोपीकांदर थाना क्षेत्र में सड़क लूट मामले में पुलिस ने एक लाख रुपये नकद और घटना में इस्तेमाल की गयी मोटरसाइकिल बरामद कर दो अपराधियों को बुधवार को गिरफ्तार कर लिया।
पुलिस अधीक्षक वाई. एस. रमेश ने यहां बताया कि पश्चिम बंगाल के वीरभूम जिले के नलहटी गांव निवासी प्रदीप नेमानी अपना ट्रक लेकर 23 अक्टूबर 2019 को दुमका की ओर आ रहा था। इस बीच दुमका जिले के गोपीकांदर थाना क्षेत्र में दुमका-पाकुड़ मुख्य मार्ग पर जीयापानी गांव के निकट मोटरसाइकिल सवार चार अज्ञात अपराधियों ने चाकू का भय दिखाकर आठ लाख नब्बे हजार लूट लिए और फरार हो गए। अधीक्षक ने बताया कि इस घटना को लेकर प्रदीप नेमानी की लिखित शिकायत पर भारतीय दंड विधान की धारा 394 के तहत गोपीकांदर थाने में कांड संख्या-28/019 दर्ज कर अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी पूज्य प्रकाश और काठीकुंड के पुलिस निरीक्षक वकार हुसैन के नेतृत्व में टीम गठित कर मामले की छानबीन शुरू की गयी। उन्होंने बताया कि अनुसंधान के क्रम में पुलिस टीम ने पश्चिम बंगाल के वीरभूम जिले के नलहट्टी थाना क्षेत्र के कोईगोड़िया गांव निवासी रमजान शेख को दबोच लिया और गहन पूछताछ की तो उसने स्वीकारोक्ति बयान में इस लूटकांड की योजना बनाने सहित कांड में संलिप्त अपराधियों का खुलासा कर दिया। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि रमजान शेख की निशानदेही पर मामले में संलिप्त कोईगोड़िया गांव निवासी मो.आशिक को भी गिरफ्तार कर लिया गया। दोनों अपराधियों की निशानदेही पर दोनों के पास से लूटी गयी राशि में से 50-50 हजार रुपये सहित कुल एक लाख रुपये नकद और घटना में इस्तेमाल की गयी बाइक बरामद कर ली गयी। उन्होंने बताया कि इस मामले में संलिप्त तीन अन्य अपराधियों को चिह्नित कर लिया गया है और उन्हें शीघ्र गिरफ्तार कर लिया जायेगा। सड़क लूट कांड में गिरफ्तार दोनों अपराधियों को बुधवार को जेल भेज दिया गया।

शेयर करें

मुख्य समाचार

टोक्‍यों ओलंपिक में खिलाड़ियों का पूरा समर्थन करेगा देश : कोविंद

नयी दिल्ली : राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने शनिवार को कहा कि 24 जुलाई से नौ अगस्त तक आयोजित 2020 टोक्यो ओलंपिक में देश का प्रतिनिधित्व आगे पढ़ें »

बुकर पुरस्कार विजेता जोखा अल हार्सी पहुंचीं जयपुर साहित्य महोत्सव में, लेखन चुनौतियों का जिक्र किया

जयपुरः ओमान की लेखिका एवं बुकर पुरस्कार विजेता जोखा अल हार्सी के लिए लेखन का सबसे दिलचस्प और चुनौतीपूर्ण पहलू समाज में मौजूद अनसुनी और आगे पढ़ें »

ऊपर