शराबबंदी-गुटखाबंदी का विरोध नहीं किया तो मांगनी पड़ेगी भीख : विधायक

amarnath gami

दरभंगा : हायाघाट से सत्तारूढ़ जनता दल यूनाईटेड (जदयू) के विधायक अमरनाथ गामी ने नीतीश सरकार पर चेहरा चमकाने के लिए शराब के बाद गुटखा पर प्रतिबंध लगाने का आरोप लगाते हुए मंगलवार को कहा कि यदि इसका विरोध नहीं किया गया तो व्यापारी और दुकानदारों को स्टेशन पर भीख मांगनी पड़ेगी। गामी ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने केवल अपना चेहरा चमकाने के लिए शराब के बाद अब राज्य में गुटखा और पान मसाले की बिक्री और सेवन पर प्रतिबंध लगाया है। उन्होंने राज्य सरकार को नसीहत देते हुए कहा कि पहले केंद्र सरकार से बात कर प्रतिबंधित चीजों के उत्पादन को बंद किया जाना चाहिए तभी कोई भी बंदी सफल होगी अन्यथा शराबबंदी की तरह ही गुटखाबंदी का भी हाल होगा।

खैनी प्रतिबंधित की तो होगा सत्ता परिवर्तन

विधायक ने नीतीश सरकार को चुनौती देते हुए कहा, ‘‘दम है तो सरकार खैनी पर प्रतिबंध लगाकर दिखाये। यदि सरकार ने हिम्मत दिखाई तो सत्ता परिवर्तन हो जाएगा। बिहार में 80 प्रतिशत लोग खैनी का इस्तेमाल करते हैं और यह स्वास्थ्य के लिए गुटखा और पान मसाले से अधिक हानिकारक है।’’ उन्होंने कहा कि सरकार को गुटखा और पान मसाले के व्यवसाय से जुड़े लोगों के लिए पहले रोजगार की व्यवस्था करनी चाहिए। यदि सरकार रोजगार नहीं दे सकती तो उसे रोजगार छीनने का भी अधिकार नहीं है। गामी ने कहा कि शराबबंदी और प्लास्टिक की थैली पर प्रतिबंध लगाये जाने के बाद भी राज्य में शराब की बिक्री और प्लास्टिक की थैलियों का इस्तेमाल बदस्तूर जारी है। उन्होंने आह्वान किया कि गुटखाबंदी के खिलाफ आवाज बुलंद करें नहीं तो व्यापारी और दुकानदार रेलवे स्टेशन पर कटोरा लेकर भीख मांगेंगे।

शेयर करें

मुख्य समाचार

terrorist

कश्‍मीर में आतंकवाद बढ़ाने के लिए पाक को मिला इस देश का साथ

नई दिल्ली: तुर्की अब खुलकर कश्मीर में आतंकवाद को बढ़ाने के लिए पाकिस्तान की मदद कर रहा है। बता दें कि चीन के बाद अब आगे पढ़ें »

अब पति को हर महीने 2000 रुपये का गुजारा भत्ता देगी पत्‍नी

मुजफ्फरनगर: आपने अब तक अमूमन कोर्ट की ओर से यही आदेश पढ़ा या सुना होगा कि कोर्ट ने पति को आदेश दिया है कि वह आगे पढ़ें »

ऊपर