समाज में किन्नर भी सुरक्षित नहीं : रेशमा प्रसाद

पटना : किन्नरों के कल्याण के लिए काम करने वाली संस्था ‘दोस्ताना सफर’ की सचिव एवं बिहार किन्नर कल्याण बोर्ड की सदस्य रेशमा प्रसाद ने पूर्णिया में मुस्कान की हत्या पर रोष व्यक्त करते हुए कहा कि केवल रोटी के लिए जीने वाले किन्नर भी यहां समाज में सुरक्षित नहीं हैं।
रेशमा प्रसाद ने अपना आक्रोश व्यक्त करते हुए कहा, ‘इस सभ्य समाज ने हमें कभी भी अपना हिस्सा नहीं माना। हमारा अस्तित्व तो बस दो वक्त की रोटी जुटाने भर की रही है। इसके अलावा हम कुछ और तो मांग भी नहीं सकते फिर हमसे कैसा बैर है कि किन्नर मुस्कान की बेरहमी से हत्या कर दी गयी। काफी कम आबादी वाला किन्नर समुदाय कहीं भी सुरक्षित नहीं है।’ ‘दोस्ताना सफर’ की सचिव ने सवालिया लहजे में कहा कि आखिर किन्नर अपनी सुरक्षा की गुहार कहां लगाए? बड़ा मुश्किल समय आ गया है। उन्होंने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से किन्नरों की सुरक्षा की गुहार लगाते हुए कहा कि राज्य का किन्नर कल्याण बोर्ड ठीक से काम नहीं कर रहा है। ऐसे में उससे क्या उम्मीद की जा सकती है। उन्होंने मुख्यमंत्री से इस दिशा में आवश्यक कदम उठाकर राज्य में किन्नरों की सुरक्षा सुनिश्चित करने का आग्रह किया है।

रेशमा प्रसाद ने कहा कि वह दिल्ली में पूर्णिया के सांसद संतोष कुमार से मुलाकात कर किन्नर मुस्कान के हत्यारों की शीघ्र गिरफ्तारी के लिए कदम उठाने की प्रार्थना करेंगी। उन्होंने बताया कि उनकी बिहार के पुलिस महानिदेशक गुप्तेश्वर पांडेय से बातचीत हुई है और उन्होंने अपराधी की गिरफ्तारी शीघ्र किए जाने का आश्वासन दिया है।

किन्नर मुस्कान के सिर में मारी गयी थी गोली

गौरतलब है कि बिहार में पूर्णिया जिले के सदर थाना क्षेत्र के सनौली चौक के निकट मंगलवार को दिन-दहाड़े सशस्त्र अपराधियों ने एक किन्नर की गोली मारकर हत्या कर दी। चार किन्नर रोजाना की तरह बधाइयां देने जा रहे थे। जैसे ही सनौली चौक के समीप चारों पहुंचे, पहले से ही खड़े मोटरसाइकिल सवार अपराधियों ने सिर में गोली मार दी। मृत किन्नर की पहचान अररिया जिले के इस्माइल नगर की रहने वाली मुस्कान के रूप में की गयी है, जो यहां सदर थाना क्षेत्र के चौहान टोला में रहती थी।

विरोध में देशभर से किन्नर पूर्णिया पहुंचे

मुस्कान की हत्या के विरोध में बुधवार को देश भर से हजारों किन्नर पूर्णिया पहुंचे और प्रदर्शन किया। घटना की खबर आग की तरह पूरे देश में फैल गयी, जिसके बाद पूर्णिया में देश के कोने-कोने से किन्नरों का पहुंचने का सिलसिला जारी है। जिले में अब तक हजारों की संख्या में किन्नर पहुंच चुके हैं। किन्नर सोना देवी के नेतृत्व में एक शिष्टमंडल ने गुरुवार को पूर्णिया के पुलिस महानिरीक्षक एवं पुलिस अधीक्षक से मुलाकात की और ज्ञापन सौंपा। सोना देवी ने बताया कि वे लोग नाच-गाकर, लोगों से मिलने वाले थोड़े पैसों से जीवन यापन करते हैं। उन लोगों के पास कोई जमीन जायदाद भी नहीं होती है, जिससे उनकी किसी से दुश्मनी हो।

शेयर करें

मुख्य समाचार

मांग बढ़ने से सोने की कीमतों में आई वृद्धि, चांदी की कीमतें भी बढ़ीं

नई दिल्ली : सोने की कीमत में बुधवार को उछाल देखने को मिली। सोने की कीमतों में बुधवार को 225 रुपये प्रति 10 ग्राम की आगे पढ़ें »

jadhav

कुलभूषण जाधव को मिल सकता है अपील का हक, आर्मी एक्ट में पाकिस्तान कर रहा संशोधन

नई दिल्ली : पाकिस्तान की जेल में कैद नौसेना के पूर्व अधिकारी कुलभूषण जाधव को इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस (आईसीजे) की शर्त के अनुसार, सिविल आगे पढ़ें »

ऊपर