विरोधी दलों को नहीं दिख रहा बिहार का विकास : सुशील मोदी

पटना : बिहार के उपमुख्यमंत्री एवं भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता सुशील कुमार मोदी ने विपक्ष पर निशाना साधते हुए बुधवार (6 नवंबर,2019) को कहा कि जिस विकास को गांव महसूस कर रहा है, वह राजनीतिक द्वेष के कारण विरोधी दलों को दिखाई नहीं पड़ता।
सुशील कुमार मोदी ने माइक्रो ब्लॉगिंग साइट टि्वटर पर ट्वीट कर कहा, ‘जिस विकास को गांव महसूस कर रहा है, वह राजनीतिक द्वेष के कारण विरोधी दलों को दिखाई नहीं पड़ता।’ उन्होंने राज्य की मुख्य विपक्षी राष्ट्रीय जनता दल (राजद) पर उसका नाम लिए बगैर कटाक्ष करते हुये कहा कि जिनके राज में बिहार की सड़कें गड्ढ़ों और राहजनी के लिए जानी जाती थीं, वे भी बयानबाजी करते हैं। भाजपा नेता ने कहा कि भाजपा के राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष जयप्रकाश (जेपी) नड्डा ने फिर आश्वस्त किया कि बिहार का विकास प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की प्राथमिकता में सबसे ऊपर है। केंद्र और राज्य में एनडीए की सरकार होने से बिहार की तस्वीर तेजी से बदली है। सुशील मोदी ने एक अन्य ट्वीट में कहा, ‘पक्की सड़क, हर घर नल का जल, गरीब के घर उज्ज्वला योजना से मिला मुफ्त गैस कनेक्शन और पिछले ही साल हर गांव तक बिजली पहुंचना कोई छोटी उपलब्धि नहीं है।’ उपमुख्यमंत्री ने कहा कि केंद्र की राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) सरकार ने किसान सम्मान योजना के तहत किसानों के खाते में सालाना 6000 रुपये डालने की शुरुआत की, साथ ही फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य भी बढ़ाया। उन्होंने कहा कि राजग सरकार ने कृषि आय दोगुनी करने के लिए मेढ़ पर पेड़ जैसे कार्यक्रम भी शुरू किये। मोदी ने कहा कि किसानों के हित को ध्यान में रखकर ही प्रधानमंत्री ने बैंकाक में 16 आरसीईपी देशों के साथ मुक्त व्यापार समझौता करने से इनकार कर दिया। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि मुद्दाविहीन कांग्रेस ने किसानों को गुमराह करने लिए जब आंदोलन का एलान किया तब राहुल गांधी फिर किसी देश की गुप्त यात्रा पर चले गए।

शेयर करें

मुख्य समाचार

ममता की हुंकार : नहीं होने देंगे एनआरसी

सागरदिघी (मुर्शिदाबाद) : राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) को लेकर राजनीतिक बहस बढ़ती ही जा रही है। बुधवार को मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने हुंकार भरते हुए आगे पढ़ें »

डीआरआई का रेड और नोटों की बारिश

कोलकाता : महानगर के डलहौसी इलाके के बेन्टिक स्ट्रीट में बुधवार की दोपहर बाद अचानक एक कामर्शियल बिल्डिंग से नोटों की बारिश होने लगी। घटना आगे पढ़ें »

ऊपर