मुजफ्फरपुर आश्रय गृह मामला : पीड़ित बच्चियों को घर भेजने पर आज फैसला सुनायेगा सुप्रीम कोर्ट

नयी दिल्ली/पटना : मुज़फ़्फ़रपुर आश्रय गृह यौन उत्पीड़न मामले में पीड़ित बच्चियों को उनके घर भेजने को लेकर उच्चतम न्यायालय गुरुवार को अपना आदेश सुनायेगा। न्यायमूर्ति एनवी रमन की अध्यक्षता वाला तीन सदस्यीय पीठ पीड़ित बच्चियों को उनके माता-पिता को सौंपने पर आदेश सुनायेगा। टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ सोशल साइंसेज की ओर से सीलबंद लिफाफे में स्थिति रिपोर्ट दाखिल की गयी है। इंस्टीट्यूट की ओर से न्यायालय को बताया गया कि कुछ बच्चियों के घर का पता चल गया है और उनके मां-पिता उन्हें वापस लेने को तैयार हैं। मालूम हो कि एक मामले में बच्ची ने अपने घर का पता व घर की लोकेशन बतायी है, लेकिन उस पते पर घरवाले नहीं मिले हैं। इससे पहले 18 जुलाई को पीठ ने टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ सोशल साइंसेज के फील्ड एक्शन प्रोजेक्ट ‘कोशिश’ को आश्रय गृह की पीड़ित बच्चियों से बातचीत की अनुमति दे दी थी ताकि उनका पुनर्वास किया जा सके।

शेयर करें

मुख्य समाचार

लोगों में पीओके की आजादी के लिये ‘जुनून’ है : ठाकुर

जम्मू : केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने सोमवार को कहा कि जम्मू-कश्मीर के विशेष दर्जे को समाप्त करने के बाद पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर आगे पढ़ें »

पिछले पांच-छह साल में बढ़े हैं दलितों पर अत्याचार : प्रशांत भूषण

नयी दिल्ली : भीम आर्मी द्वारा आयोजित संवाददाता सम्मेलन में सामाजिक कार्यकर्ता व वकील प्रशांत भूषण ने सोमवार को आरोप लगाया कि पिछले पांच-छह साल आगे पढ़ें »

ऊपर