मुजफ्फरपुर आश्रय गृह मामला : पीड़ित बच्चियों को घर भेजने पर आज फैसला सुनायेगा सुप्रीम कोर्ट

नयी दिल्ली/पटना : मुज़फ़्फ़रपुर आश्रय गृह यौन उत्पीड़न मामले में पीड़ित बच्चियों को उनके घर भेजने को लेकर उच्चतम न्यायालय गुरुवार को अपना आदेश सुनायेगा। न्यायमूर्ति एनवी रमन की अध्यक्षता वाला तीन सदस्यीय पीठ पीड़ित बच्चियों को उनके माता-पिता को सौंपने पर आदेश सुनायेगा। टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ सोशल साइंसेज की ओर से सीलबंद लिफाफे में स्थिति रिपोर्ट दाखिल की गयी है। इंस्टीट्यूट की ओर से न्यायालय को बताया गया कि कुछ बच्चियों के घर का पता चल गया है और उनके मां-पिता उन्हें वापस लेने को तैयार हैं। मालूम हो कि एक मामले में बच्ची ने अपने घर का पता व घर की लोकेशन बतायी है, लेकिन उस पते पर घरवाले नहीं मिले हैं। इससे पहले 18 जुलाई को पीठ ने टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ सोशल साइंसेज के फील्ड एक्शन प्रोजेक्ट ‘कोशिश’ को आश्रय गृह की पीड़ित बच्चियों से बातचीत की अनुमति दे दी थी ताकि उनका पुनर्वास किया जा सके।

शेयर करें

मुख्य समाचार

12 अगस्‍त को दुनिया की पहली कोरोना वैक्‍सीन होगी पंजीकृत

वायरस टीके के लिए रूस की जल्दबाजी ने पश्चिम में चिंताएं बढायीं मॉस्को : दुनियाभर में जहां कोरोना वायरस के मामलों में तेजी से बढ़ोतरी हो आगे पढ़ें »

बीसीसीआई का दावा, यूएई में आईपीएल कराने को केंद्र सरकार की हरी झंडी

नयी दिल्ली : भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) को इस साल इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) में कराने की मंजूरी मिल गयी है आगे पढ़ें »

ऊपर