भागलपुर में ट्रक-बस की भीषण टक्कर में नौ प्रवासियों की मौत, 12 से अधिक घायल

प्रवासी छिपकर, पैदल, रेल ट्रैक और ट्रकों के जरिये आवाजाही न करें : नीतीश
भागलपुर : कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव के लिए लागू लॉकडाउन के 56वें दिन जिले के खरीक थाना क्षेत्र में मंगलवार सुबह ट्रक और बस के बीच हुई भीषण टक्कर में नौ प्रवासी मजदूर की मौत हो गई तथा 12 से अधिक लोग घायल हो गए। नवगछिया की पुलिस अधीक्षक निधि रानी ने यहां बताया कि प्रवासी श्रमिक पड़ोस के किसी राज्य से साइकिल से आ रहे थे तभी उन्होंने नवगछिया जीरो माइल के निकट लोहे के रॉड लदे एक ट्रक के चालक को रोका और उसकी सहमति से ट्रक पर सवार हो गए। ट्रक राष्ट्रीय राजमार्ग-31 पर अंभो मोड़ के पास पहुंचा ही था कि प्रवासी मजदूरों को लेकर विपरीत दिशा से आ रही तेज रफ्तार बस से सीधी टक्कर हो गई और ट्रक सड़क किनारे एक गड्ढे में पलट गया।

क्रेन की मदद से शवों को बाहर निकाला गया

रानी ने बताया कि इस दुर्घटना में ट्रक पर लदे लोहे के मोटे रॉड से दब जाने के कारण उस पर सवार नौ मजदूर की मौके पर ही मौत हो गई। वहीं, बस पर सवार 12 से अधिक प्रवासी घायल हो गए। उन्होंने बताया कि शवों को क्रेन की मदद से बाहर निकाला गया है। ट्रक पर सवार प्रवासी साइकिल से कहां से आ रहे थे यह ज्ञात नहीं है। संभावना है कि वे पड़ोसी राज्य पश्चिम बंगाल या झारखंड से आ रहे होंगे।

चार की हुई पहचान

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि मृतकों में से चार की पहचान हो पाई है जबकि शेष पांच की शिनाख्त का प्रयास किया जा रहा है। पहचान कर लिए गए मृतकों में पश्चिम चंपारण जिले के जालिम मियां और नूरहोदा मियां तथा पूर्वी चंपारण जिले के जुलुम मियां और शैकत अली शामिल हैं। रानी ने बताया कि इस दौरान क्षतिग्रस्त बस दरभंगा से प्रवासी मजदूरों को लेकर बांका जा रही थी और उसमें सवार 12 से अधिक मजदूर घायल हो गए हैं। घायलों को नवगछिया अनुमंडलीय अस्पताल मे भर्ती कराया गया, जहां प्राथमिक उपचार के बाद उनमें से चार अन्य को जवाहर लाल नेहरू चिकित्सा महाविद्यालय अस्पताल (जेएलएनएमसीएच), भागलपुर भेज दिया गया है। शवों का पोस्टमॉर्टम करा लिया गया है। परिजनों के पहुंचते ही शव उन्हें सौंप दिया जाएगा।

मुआवजे का दिया निर्देश

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इस हादसे में हुई मजदूर प्रवासियों की मौत पर गहरा दुख एवं संवेदना व्यक्त की है। उन्होंने कहा कि यह घटना काफी दुखद है। मुख्यमंत्री ने शोक संतप्त परिवारों को दुख की इस घड़ी में धैर्य धारण करने की शक्ति प्रदान करने की ईश्वर से प्रार्थना की है। उन्होंने इस हादसे में मृतकों के परिजनों को 4-4 लाख रूपये मुआवजा अविलंब देने का निर्देश दिया है। मुख्यमंत्री ने इस हादसे में घायल हुए लोगों के समुचित इलाज का भी निर्देश दिया है और घायल लोगों के शीघ्र स्वस्थ होने की भी कामना की है। नीतीश ने लोगों से अपील की है कि वे छिपकर, पैदल, रेल ट्रैक और ट्रकों के जरिये आवाजाही न करें। नौगछिया पुलिस अधीक्षक निधि रानी ने बताया कि मृतकों में शामिल सभी पुरुष हैं और सभी शवों को ट्रक से बाहर निकाल लिया गया है।उन्होंने बताया कि दरभंगा से बांका जिला जा रहे बस में सवार कुछ लोगों को मामूली चोटें आयी थीं। वे स्थानीय अस्पताल में उपचार किए जाने के बाद आगे की यात्रा पर रवाना हो गए हैं। ट्रक बंगाल से बिहार आया थापुलिस अधीक्षक ने बताया कि उक्त ट्रक पश्चिम बंगाल से बिहार के कटिहार जिले होते हुए आया था। हादसे के बाद से ट्रक का चालक और खलासी फरार है। उन्होंने कहा कि इन मजदूरों ने साइकिल से कोलकाता से छह दिन पहले अपनी यात्रा शुरू की थी। वे अपने घर वापस जाने के लिए रास्ते में उक्त ट्रक में सवार हुए होंगे। पुलिस अधीक्षक ने कहा कि कुछ मजदूरों की पहचान पूर्वी चंपारण एवं पश्चिमी चंपारण जिले के निवासी के रूप में हुई है। उन्होंने कहा कि मृतकों में जिनकी पहचान तत्काल नहीं हो पायी है संभवत: इन दोनों जिलों से हो सकते हैं क्योंकि वे एक समूह में जा रहे थे।

शेयर करें

मुख्य समाचार

मेंडिस की कार की टक्‍कर से बुजुर्ग की मौत, गिरफ्तार हुए

कोलंबो : श्रीलंका के क्रिकेटर कुसाल मेंडिस को रविवार को गिरफ्तार किया गया जब उनकी गाड़ी से टकराकर एक साइकिल सवार की मौत हो गई। आगे पढ़ें »

क्विंटन दूसरी बार बने क्रिकेटर ऑफ द ईयर, महिलाओं में लॉरा सर्वश्रेष्ठ

जोहानसिबर्ग : दक्षिण अफ्रीका के सीमित ओवरों के क्रिकेट कप्तान क्विंटन डिकॉक को क्रिकेट दक्षिण अफ्रीका (सीएसए) के वार्षिक पुरस्कार समारोह में साल का सर्वश्रेष्ठ आगे पढ़ें »

ऊपर