बिहार में हर्षोल्लास के साथ मनाई गई दीपावली

पटना : बिहार में अंधकार पर प्रकाश के विजयोत्सव का पर्व दीपावली रविवार को हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। दीपावली के मौके पर मंदिरों और बाजार को आकर्षक ढंग से सजाया गया था। विभिन्न मंदिरों में रविवार सुबह से ही श्रद्धालुओं की भीड़ लगी रही। मिठाई की दुकानों में भी काफी भीड़ देखी गयी। बाजार लक्ष्मी-गणेश की मूर्तियों, फूलों, सजावटी सामानों, पटाखों और घरौदों से सजा था। हर उम्र के लोग दिनभर खरीददारी के बाद अपने घरों को रंग बिरंगे बल्बों, मोमबत्ती, दीये और रंगोली के जरिये सजाने में व्यस्त रहे।
शाम ढलते ही सभी घर, दुकान और कार्यस्थल रंग बिरंगे बल्ब, दीया और मोमबत्ती से जगमागा उठे। लोगों ने शुभ मुहूर्त में लक्ष्मी-गणेश की पूजा अर्चना की। इस अवसर पर लोगों ने एक-दूसरे को दीपावली की बधाइयां दी और मिठाइयां तथा उपहार भी भेंट में दिये। बिहार में कई विद्यालयों ने पर्यावरण संरक्षण के मद्देनजर पटाखों के खिलाफ अभियान छेड़ रखा था। लोगों को उनकी गाढ़ी कमाई पटाखों पर बर्बाद नहीं करने के लिए जागरूक किया गया। दीपावली दीपों का त्यौहार है और इस दिन रोशनी का विशेष महत्व होता है। कार्तिक अमावस्या की काली रात को दीयों से उजाले में बदलने की यह परंपरा बहुत पुरानी है। मान्यता है कि समुद्र मंथन के समय कार्तिक अमावस्या को ही लक्ष्मीजी प्रकट हुई थीं इसलिए इसी दिन लक्ष्मी पूजन का विशेष महत्व है। कलयुग में सांसारिक वस्तुओं और धन का विशेष महत्व है। मान्यता है कि इस युग में लक्ष्मीजी ही ऐसी देवी हैं जो अपने भक्तों को संसारिक वस्तुओं से परिपूर्ण करती हैं और धन देती हैं।
ऐसी भी मान्यता है कि इसी दिन भगवान श्रीरामचंद्र चौदह वर्ष का वनवास काटकर तथा रावण का वध कर अयोध्या वापस लौटे थे, तब अयोध्यावासियों ने राम के राज्यारोहण पर दीपमालाएं जलाकर महोत्सव मनाया था। उसी परंपरा को आज भी हम मानते हैं और दीपावली पर दीये जलाकर मर्यादा पुरुषोत्तम राम को याद करते हैं। दीपावली के दिन लक्ष्मी, गणेश की पूजा करने का विधान है। इसके साथ भगवान राम और सीताजी को भी पूजा जाता है। इस दिन गणेश जी की पूजा इसलिए की जाती है क्योंकि गणेश पूजन के बिना कोई भी पूजा अधूरी मानी जाती है। दीपावली धार्मिक कारणों से ही नहीं बल्कि वैज्ञानिक दृष्टि से भी एक अहम पर्व है। ज्यादातर लोग इस दिन घर की पूरी सफाई और रंगाई करते हैं, जिससे जहां पूरे साल सफाई नहीं होती वहां भी सफाई हो जाती है। साथ ही बरसात के कारण जो कीट उत्पन्न होते हैं वह दीपावली के दीये और पटाखे में नष्ट हो जाते हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

police helps an older woman

निमतल्ला घाट की एक गरीब की बेटी की शादी के लिए पुलिस ने बढ़ाया मदद का हाथ

कोलकाता : कुछ घंटे बाद ही बेटी की बारात द्वार पर आने वाली थी। ऐन मौके पर तैयारियां अधूरी रह गयी और घर पर पैसे आगे पढ़ें »

Kiran Bedi

पुडुचेरी के सीएम ने उपराज्यपाल किरण बेदी को कहा ‘हिटलर की बहन’

पुडुचेरी : पुडुचेरी के मुख्यमंत्री वी. नारायणसामी ने मंगलवार को एक विवादित टिप्पणी करते हुए केंद्र शासित प्रदेश की उपराज्यपाल किरण बेदी को तानाशाह बताया है। नारायणसामी आगे पढ़ें »

Vodafone idea raise rentle charges

वोडाफोन आइडिया एक दिसंबर से बढ़ाएगी मोबाइल सेवा की दरें

Bhopal Metro

मध्य प्रदेश में मेट्रो के साथ रैपिड रेल चलाने की योजना : मंत्री जयवर्धन सिंह

Rape victim

सोशल मीडिया पर तस्वीरें पोस्ट करने की धमकी देकर करता रहा बलात्कार, हुआ गिरफ्तार

Kalyani Expressway

कल्याणी एक्सप्रेस वे पर लुटेरों ने बाइकसवार को मारी गोली,हालत गंभीर

pdp

पीडीपी सांसद ने गृह मंत्री को लिखा पत्र, राजनीतिक बंदियों को रिहा करने की मांग की

officer

भारतीय मूल के पुलिसकर्मी के सम्मान में ह्यूस्टन पुलिस ने ड्रेस कोड नीति बदली

coal burning roadside

कोलकाता में सड़क किनारे चूल्हा जलाने वालों के खिलाफ शुरू हुई कार्रवाई

Gay couple wants police protection

बारासात के समलैंगिक जोड़े को मिल रही परिवार से धमकी, पुलिस से लगाई सुरक्षा की गुहार

ऊपर