पटना में बाढ़ से हुए नुकसान के दावों का एक माह में निपटारा करे बीमा कंपनियां

पटना : बिहार सरकार ने बीमा कंपनियों से इस वर्ष सितंबर-अक्टूबर महीने में भारी बारिश से पटना में आई बाढ़ से लोगों के हुए नुकसान के दावों का निपटारा एक महीने के अंदर करने का आग्रह किया है।
वित्त विभाग के प्रधान सचिव डॉ. एस. सिद्धार्थ ने मंगलवार को यहां सामान्य बीमा कंपनियों के साथ केंद्र एवं बिहार सरकार के वरीय पदाधिकारियों की बैठक में बीमा कंपनियों से आग्रह किया कि पटना में आई बाढ़ के कारण हुए नुकसान संबंधित दावों का निपटारा एक माह के अंदर किया जाये। नुकसान संबंधी मामलों का आकलन हर हाल में एक सप्ताह के अंदर कर लिया जाए तथा इस कार्य के लिए समुचित संख्या में सर्वेयर्स नियुक्त किये जाएं। डॉ. सिद्धार्थ ने कहा कि आम जनता की सुविधा के लिए नोडल कंपनी नेशनल इंश्योरेन्स द्वारा राजेंद्र नगर, कंकड़बाग, पाटलिपुत्र कॉलोनी, सैदपुर, दानापुर एवं अधिक जल जमाव मामलों वाले अन्य क्षेत्रों में 13 नवंबर से विशेष शिविर लगाए जाएंगे। प्रधान सचिव ने कहा कि बीमा कंपनियों द्वारा वाहन क्षति के दावा से संबंधित सभी आवश्यक आवेदन अनुलग्नकों सहित बीमा धारकों से प्राप्त कर जिला परिवहन कार्यालय, पटना में जमा किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि संपूर्ण क्षति की स्थिति में जिला परिवहन पदाधिकारी द्वारा वाहन का निबंधन प्रमाण-पत्र रद्द किया जाएगा। बीमा कंपनियों के आग्रह पर परिवहन आयुक्त द्वारा दो दिन के अंदर एमएसटीसी लिमिटेड तथा पटना के प्रमुख वाहन एवं वर्कशाप कंपनियों के साथ बैठक कर दावों के निष्पादन में आ रही समस्याओं को दूर करने का आश्वासन दिया गया। केंद्र सरकार की वित्तीय सेवाएं प्रभाग की निदेशक मुदिता मिश्र ने बीमा कंपनियों को एक माह के अंदर वाहन एवं अन्य प्रकार की संपतियों के नुकसान संबंधी दावों के निष्पादन का निर्देश दिया। बैठक में वित्त विभाग के प्रधान सचिव डॉ. एस. सिद्धार्थ, वित्त विभाग (व्यय) सचिव राहुल सिंह, परिवहन आयुक्त-सह-आयुक्त पटना प्रमंडल संजय अग्रवाल, केंद्र सरकार के वित्तीय सेवाएं प्रभाग की निदेशक मुदिता मिश्र तथा सार्वजनिक एवं निजी क्षेत्र की सामान्य बीमा कंपनियों के उच्च पदाधिकारियों ने भाग लिया।

शेयर करें

मुख्य समाचार

वेस्टइंडीज जीत के करीब, इंग्लैंड ने दूसरी पारी में 313 रन बनाए

साउथैम्पटन : इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट में वेस्टइंडीज जीत की ओर है। मैच के पांचवें दिन टी ब्रेक तक मेहमान टीम ने 4 विकेट के आगे पढ़ें »

पगबाधा का फैसला सिर्फ और सिर्फ डीआरएस से हो : तेंदुलकर

नयी दिल्ली : महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने अंपायरों के फैसलों की समीक्षा प्रणाली (डीआरएस) से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) को ‘अंपायर्स कॉल’ को हटाने आगे पढ़ें »

ऊपर