गोल्फग्रीन में पुलिस की पिटाई से युवक की मौत, 3 पुलिसकर्मी को किया गया क्लोज

  • परिजनों का आरोप- पुलिस की पिटायी में घायल होने के कारण हुई मौत
  • पर‌िजनों ने डीसी एसएसडी के पास शिकायत दर्ज करायी

सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता :
गोल्फग्रीन के आजादगढ़ इलाके में एक युवक की रहस्यमय परिस्थिति में मौत हो गयी। शुक्रवार की सुबह एमआर बांगुर अस्पताल में इलाज के दौरान उसकी मौत हुई है। मृतक का नाम दीपंकर साहा (34) है। घटना को लेकर मृतक के परिजनों ने पुलिस पर आरोप लगाया है। उनका आरोप है कि पुलिस की पिटायी में घायल होने के बाद ही दीपंकर की मौत हुई है। परिजनों की तरफ से डीसी एसएसडी के समक्ष शिकायत दर्ज करायी गयी। उनका आरोप है कि गत रविवार की रात दीपंकर को पकड़कर पुलिस ने पिटायी की थी। अब इस मामले में 3 पुलिसकर्मियों को क्लोज यिि गया है।
क्या है पूरा मामला
जानकारी के अनुसार आरती साहा ने अपनी शिकायत में बताया कि गत रविवार को गोल्फग्रीन थाने की पुलिस ने आजादगढ़ इलाके में उसके घर के पास से दीपंकर को पकड़ा था। घटना के समय वह अपनी अस्थायी दुकान को बंद कर रही थी। उस दिन देर रात को दीपंकर वापस घर लौट आया। वापस लौटने पर वह सीने और शरीर के अन्य हिस्से में दर्द के करण कराह रहा था। अगले 4 दिन तक वह घर में बिस्तर पर पड़ा रहा। गुरुवार की शाम तबीयत बिगड़ने पर दीपंकर को एमआर बांगुर अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां इलाज के दौरान शुक्रवार की सुबह मौत हो गयी। दीपंकर की मौत के बाद उसके परिजनों ने पुलिस कर्मियों पर अत्याचार और थाने में मारपीट का आरोप लगाते हुए डीसी एसएसडी के पास शिकायत दर्ज करायी। इसके बाद पुलिस की ओर से तीन सदस्यीय मेडिकल टीम का गठन किया गया। उक्त टीम पोस्टमॉर्टम के दौरान यह पता करेगी कि मृतक के शरीर पर पुलिस की मार के निशान हैं या नहीं। पुलिस की ओर से उसकी वीडियोग्राफी भी की जाएगी। पुलिस के अनुसार गत रविवार की रात पुलिस ने उसे 5 युवकों के साथ घूमते देख पकड़ा था। उसे रात 10.26 बजे थाने में लाया गया था और 10.56 बजे उसे थाने से बाहर निकलते हुए देखा गया।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

एसएससी के पूर्व सलाहकारों की जमानत अर्जी खारिज

कोलकाता : एसएससी के दो पूर्व सलाहकार शांतिप्रसाद सिन्हा (एसपी सिन्हा) और अशोक साहा 7 दिनों के लिए सीबीआई की हिरासत में रहेंगे। सीबीआई के आगे पढ़ें »

ऊपर