ब्रेकिंगः 26 को बंगाल से टकरायेगा ‘यास’

होगी भारी बारिश, 80 की स्पीड से चलेंगी हवाएं
आज से बनेगा निम्न दबाव
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : ताऊते के बाद अब एक और चक्रवाती तूफान के आने की आशंका है। इस चक्रवाती तूफान का सबसे अधिक असर ओडिशा व पश्चिम बंगाल में देखने को मिल सकता है। अलीपुर मौसम विभाग की ओर से बताया गया कि 26 तारीख की सुबह पश्चिम बंगाल से चक्रवाती तूफान ‘यास’ के टकराने की संभावना है। इस बारे में अलीपुर मौसम विभाग की ओर से बीडी जीएम संजीव बंद्योपाध्याय ने बताया कि आज यानी शनिवार से ईस्ट सेंट्रल बे और आस-पास में निम्न दबाव बनेगा जो उत्तर-पश्चिम दिशा की ओर अग्रसर होगा और घनीभूत होकर 24 तारीख को चक्रवात में बदल सकता है। आगे भी उत्तर – पश्चिम दिशा में होकर यह और घनीभूत होगा और 26 की सुबह ये चक्रवात नॉर्थ बे ऑफ बंगाल से टकरा सकता है।
क्या होगा चक्रवात का असर
संजीव बंद्योपाध्याय ने बताया कि चक्रवात के कारण कहीं हल्की तो कहीं भारी से अति भारी बारिश हो सकती है। पश्चिम बंगाल के तटवर्ती जिलों में 25 तारीख से ही बारिश चालू हो जायेगी और बाद में बारिश और तेज होगी। वहीं दक्षिण बंगाल के जिलों में 40 से 50 कि.मी. प्रति घण्टे की रफ्तार से हवाएं 24 तारीख की शाम से चल सकती हैं। 25 तारीख की शाम तक हवा की रफ्तार 50 से 60 कि.मी. प्रति घण्टा हो जायेगी जो 26 तारीख की दोपहर तक और बढ़ेगी। इस दौरान 70 से 80 कि.मी. प्रति घण्टे की रफ्तार से हवाएं चल सकती हैं।
राज्य सरकार बढ़ायेगी शेल्टरों की संख्या
कोरोना के कारण राज्य सरकार शेल्टरों की संख्या दुगुनी करने की योजना बना रही है ताकि शेल्टरों में भीड़ कम की जा सके। ऐसे जिले जहां यास का प्रभाव अधिक पड़ने की संभावना है, वहां कोरोना के मामले भी काफी अधिक संख्या में हैं। इन जिलों में कोलकाता, दक्षिण 24 परगना, उत्तर 24 परगना और पूर्व मिदनापुर शामिल हैं। इन जिलों के अधिकारियों को अलर्ट पर रखा गया है।
23 तक मछुआरों को वापस आने को कहा गया
23 तारीख तक मछुआरों को वापस लौटने के लिए कहा गया है। संजीव बंद्योपाध्याय ने कहा कि मछुआरों को 23 तारीख के बाद समुद्र में जाने की मनाही है और अभी जो मछुआरे समुद्र में गये हैं, उन्हें लौटने के लिए कहा गया है।
हो सकती है अम्फान जैसी तीव्रता
मौसम विभाग सूत्रों ने बताया कि ये चक्रवात अम्फान जैसी तीव्रता वाला हो सकता है। हालांकि जिस गति के साथ तूफान आगे बढ़ रहा है, उसे देखते हुए इसकी तीव्रता कुछ कम हो सकती है।
स्वास्थ्य सचिव ने राज्य के मुख्य सचिव को भेजी चिट्ठी
केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण की ओर से राज्य के मुख्य सचिव को चिट्ठी भेजी गयी है जिसमें सभी तरह के कमांड सिस्टम और इमरजेंसी ऑपरेशन सेंटर को सक्रिय रखने के लिए कहा गया है। इसके अलावा नॉडल ऑफिसरों को नियुक्त कर उनकी जानकारी केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय को भेजने के लिए भी कहा गया है। वहीं चक्रवात से निपटने के लिए हर तरह की तैयारी करने के लिए राज्य से कहा गया है।
एनडीआरएफ हुआ तैयार, आने लगी टीमें
नेशनल डिजास्टर रिस्पांस फोर्स (एनडीआरएफ) ने अपनी टीमों को पश्चिम बंगाल में पोजिशन करना चालू कर दिया है। कुछ टीमें ताऊते के लिए बचाव, राहत और पुनरुद्धार कार्य में तैनात थीं, उन्हें भी वापस बुलाया जा रहा है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

‘उत्तर बंगाल में भाजपा की अंत शुरूआत हुई’

कहा - राज्य में भाजपा का पतन निकट अलीपुरदुआर के भाजपा अध्यक्ष सहित 7 नेता तृणमूल में शामिल सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : उत्तर बंगाल में भाजपा को झटका आगे पढ़ें »

सेक्स के 4 ऐसे पोजीशन जो रात को बना देती है, खुशनुमा

कोलकाताः सेक्स दुनिया का सबसे अलग एहसास है। हालांकि सेक्स को लेकर तरह-तरह के सवाल सभी के मन में रहते है। इसे लेकर लोगों की आगे पढ़ें »

ऊपर