लगातार मजबूत हो रहा है यास, 165 की स्पीड पकड़ी

मुख्यमंत्री ने अधिकारियों के साथ की उच्च स्तरीय बैठक
एनडीआरएफ व कोस्ट गार्ड की टीमें तैयार
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : अत्यंत भयंकर चक्रवाती तूफान यास लगातार ताकतवर हो रहा है। मौसम विभाग की ओर से पहले ही कहा गया था कि गत शनिवार को निम्न दबाव बनने के बाद यह निम्न दबाव और गहरायेगा और इसके बाद सोमवार तक इसके चक्रवात में परिणत होने की संभावना है। इसके अगले 24 घण्टों में यह अत्यंत भयंकर चक्रवाती तूफान में बदल जायेगा जिस कारण मंगलवार की शाम से ही बारिश होगी। वहीं बुधवार यानी 26 तारीख की शाम तक इसके पश्चिम बंगाल से टकराने की संभावना है। इधर, अब मौसम विभाग की ओर से बताया गया कि यास लगातार अपनी ताकत बढ़ा रहा है। पहले जहां अधिकतम 100 की स्पीड से हवाएं चलने की बात थी, वहीं अब बताया ​जा रहा है कि तूफान में 160 से 165 कि.मी. प्रति घण्टे की रफ्तार से हवाएं चल सकती हैं। वहीं हवा की गति बढ़कर 180 कि.मी. प्रति घण्टे तक जा सकती है। ऐसे में लोगों को अपने -अपने घरों में ही रहने की अपील की जा रही है।
मुख्यमंत्री ने की अधिकारियों के साथ बैठक
मुख्यमंत्री ममता बनर्जी अत्यंत भयंकर चक्रवात यास को लेकर राज्य के डीएम, एसपी और आपदा प्रबंधन विभाग के अधिकारियों के साथ उच्च स्तरीय बैठक कर तैयारियों का जायजा लिया। सीएम ने ट्वीट किया, “चक्रवात यास को देखते हुए आज मैंने केंद्र व राज्य की एजेंसियों के सभी अधिकारियों के अलावा डीएम व एसपी के साथ मिलकर आपदा प्रबंधन तैयारियों की समीक्षा की।” इधर, राज्य सरकार द्वारा मुख्य सचिव अलापन बंद्योपाध्याय के नेतृत्व में एक तीन सदस्यीय टीम बनायी गयी है। वहीं मुख्यमंत्री ममता बनर्जी 25 और 26 तारीख को नवान्न में रहकर ही कंट्रोल रूम से यास के हालातों पर निगरानी रखेंगी।
उत्तर से उत्तर पश्चिम की ओर अग्रसर होगा तूफान
अलीपुर मौसम विभाग के डायरेक्टर संजीव बंद्योपाध्याय ने कहा, “दीघा से 590 कि.मी. दूर अवस्थित होने के बाद रविवार की रात तक गहरा निम्न दबाव बन चुका है जो आगे जाकर चक्रवात में बदल जायेगा। इसके बाद 155 से 165 कि.मी. प्रति घण्टे की रफ्तार से हवाएं चलेंगी और तूफान ओडिशा में पारादीप और बंगाल में सागर द्वीप को पार करेगा। उन्होंने बताया कि आज यानी सोमवार से तूफान उत्तर से उत्तर पश्चिम की ओर अग्रसर होगा और चक्रवात का रूप लेगा।
कई जिलों में होगी मूसलाधार बारिश
तूफान के कारण कई जिलों में मूसलाधार बारिश की संभावना है। मंगलवार से ही हल्की बारिश शुरू हो जाएगी। वहीं बुधवार को झाड़ग्राम, मिदनापुर, उत्तर व दक्षिण 24 परगना, हावड़ा, हुगली और कोलकाता में अति भारी बारिश होगी। इसी तरह नदिया, बांकुड़ा, बर्दवान, पुरुलिया और बीरभूम में भारी से अति भारी बारिश की संभावना है जबकि मालदह, मुर्शिदाबाद और दक्षिण दिनाजपुर में भी भारी बारिश हो सकती है।
भेजी गयी एनडीआरएफ की टीमें
प्रधानमंत्री कार्यालय ने बताया कि उसने सभी राज्यों में राज्य आपदा मोचन बल (एसडीआरएफ) के जवान पहले ही भेज दिए हैं और राष्ट्रीय आपदा मोचन बल ने पांच राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में 46 टीम पहले से तैनात कर दी हैं जो नावों, पेड़ काटने वाले यंत्रों एवं दूरसंचार उपकरणों से लैस हैं। इसके अलावा, 13 दलों को रविवार को तैनाती के लिए विमान के जरिए पहुंचाया जा रहा है और 10 टीमों को तैयार रखा गया है।
तटरक्षक बल की टीमें भी हुई तैयार
प्रधानमंत्री कार्यालय ने बताया कि भारतीय तटरक्षक बल और नौसेना ने राहत, तलाश एवं बचाव कार्यों के लिए पोत एवं हेलीकॉप्टर तैनात किए हैं, जबकि भारतीय वायुसेना और थलसेना की इंजीनियर कार्यबल इकाइयों तथा नौकाओं एवं बचाव उपकरणों को तैनाती के लिए तैयार रखा गया है। उसने बताया कि पश्चिमी तट पर आपदा राहत इकाइयां और मानवीय सहायता के साथ सात नौकाएं भी तैयार रखी गई हैं।
प्रधानमंत्री कार्यालय ने अन्य मंत्रालयों के प्रयासों को रेखांकित करते हुए कहा कि पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्रालय ने समुद्र में सभी तेल प्रतिष्ठानों की सुरक्षा और अपने पोतों को सुरक्षित बंदरगाहों पर लाने के लिए कदम उठाए हैं। ऊर्जा मंत्रालय ने आपदा प्रतिक्रिया प्रणालियां सक्रिय कर दी हैं और बिजली की तत्काल बहाली के लिए ट्रांसफॉर्मर, डीजी सेट एवं अन्य उपकरणों को तैयार रखा है। उसने बताया कि दूरसंचार मंत्रालय सभी दूरसंचार टावर एवं एक्सचेंज पर लगातार नजर रख रहा है और दूरसंचार नेटवर्क की बहाली के लिए पूरी तरह तैयार है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने स्वास्थ्य क्षेत्र की तैयारियों एवं प्रभावित क्षेत्रों में कोविड-19 से निपटने संबंधी कदम उठाने के लिए राज्यों एवं केंद्रशासित प्रदेशों में परामर्श जारी किए हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

9 महीने बाद खुल सकता है टाला ब्रिज

ब्रिज का आधा निर्माण कार्य हुआ पूरा विधायक ने लिया निर्माण कार्य का जायजा कोलकाता : अब मात्र 9 महीने बाद निर्माणाधीन 4 लेन वाला टाला ब्रिज आगे पढ़ें »

महिलाएं हमेशा सेक्स के बारे में क्यों सोचती हैं…

कोलकाता : 'पुरुष सोचते हैं, जबकि महिलाएं चाहती हैं।' वे दिन गए, जब 'सेक्स की डिमांड' को विशेष रूप से एक पुरुष की विशेषता माना आगे पढ़ें »

ऊपर