शीतकालीन सत्र शुरू, शोक प्रस्ताव के दौरान बज गये विधायकों के फोन, बिफरें स्पीकर

ममता बनर्जी को धन्यवाद देने के लिए लाया जाएगा प्रस्ताव
20 महीने बाद पहली बार इस सत्र में प्रश्नोत्तर होगा
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : बंगाल विधानसभा का शीतकालीन सत्र सोमवार से शुरू हो गया जो 18 नवंबर तक चलेगा। शीतकालीन सत्र के पहले दिन दिवंगत विधायकों और जानी-मानी हस्तियों को श्रद्धांजलि दी गई। विधानसभा के स्पीकर विमान बनर्जी द्वारा शोक संवेदना का प्रस्ताव पास करने के बाद सभी सदस्यों ने दो मिनट का मौन रखकर श्रद्धांजलि अर्पित की। शोक संवेदना प्रस्ताव के बाद मौन के दौरान विभिन्न विधायकों के मोबाइल फोन कई बार बजने लगे। मौन समाप्त के बाद स्पीकर ने फोन बजने पर नाराजगी जतायी। उन्होंने कहा कि यह बेहद ही दुख की बात है कि शोक के समय में भी फोन की घंटी बज रही है। आपलोगों को कम से कम इस दौरान मोबाइल फोन को साइलेंट मोड में रखना चाहिए। मुझे खुद खराब लगेगा जब आपलोगों के मोबाइल मजूबरन जब्त करना पड़ेगा। इसके बाद विधानसभा की कार्यवाही मंगलवार दोपहर 12 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई। वहीं बांग्लादेश में हिंसा के खिलाफ विरोधी दल के नेता शुभेंदु अधिकारी के नेतृत्व में भाजपा विधायकों ने विधानसभा परिसर में मोमबत्ती जुलूस निकालकर श्रद्धांजलि दी।
ऐसा होगा शीतकालीन सत्र
कोरोना महामारी के दौरान करीब 20 महीने बाद पहली बार इस सत्र में प्रश्नोत्तर और उल्लेख काल होगा। आज मंगलवार को प्रस्ताव व चर्चा होगी। मिली जानकारी के मुताबिक ईश्वर चंद्र विद्यासागर के द्विशताब्दी पर प्रस्ताव और करीब डेढ़ घंटे की चर्चा होगी। वहीं लगभग आधे घंटे के मेंशन पर चर्चा होगी। इस सत्र में अगली चर्चा 8 नवंबर को होगी। पहले सेशन में सवाल-जवाब होंगे। वहीं मेंशन भी हो सकता है। इसके बाद महिला सशक्तीकरण प्रस्ताव पर करीब डेढ़ घंटे की चर्चा होगी। सूत्रों के मुताबिक ममता बनर्जी का स्वागत किया जाएगा व उन्हें धन्यवाद दिया जाएगा। सत्र में सीएम उपस्थित रह सकती हैं। सूत्रों ने बताया कि 8 नवंबर काे बीए कमेटी के बैठक होगी। 9 नवंबर को कार्यवाही चलेगी। वहीं छठ पूजा के लिए 10 व 11 नवंबर को छुट्टी रहेगी। अगले दिन 12 नवंबर को सदन की कार्यवाही चलेगी। उसके बाद शनिवार व रविवार की छुट्टी है। 15 नवंबर को भी छुट्टी रहेगी। 16 से 18 नवंबर तक लगातार तीन दिन सदन की कार्यवाही चलने की जानकारी मिली है।
भाजपा विधायक अंतिम तीन दिन ही रहेंगे उपस्थित
शुभेंदु अधिकारी ने कहा कि वे अधिवेशन का बहिष्कार नहीं कर रहे हैं बल्कि उत्सव के दौरान वे लोगों के साथ रहना चाहते हैं। भाजपा विधायक मंगलवार से 15 नवंबर तक के कार्यवाही में नहीं उपस्थित रहेंगे केवल अंतिम के तीन दिन यानी 16, 17 व 18 नवंबर को सदन की कार्यवाही में हिस्सा लेंगे।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

जवाद चक्रवात : हावड़ा प्रशासन अलर्ट पर, जायजा लेने पहुंचे मंत्री

हावड़ा फेरी परिसेवा अस्थायी तौर पर बंद, कई ट्रेनें रद्द हावड़ा : जवाद को लेकर राज्य समेत हावड़ा में बारिश शुरू हो चुकी है। रविवार की आगे पढ़ें »

ऊपर