…26 जनवरी को ही क्यों लागू हुआ भारतीय संविधान

कोलकाता : पूरा भारतवर्ष गणतंत्र दिवस की तैयारियों में जुटा हुआ है। वैसे तो अधिकतर लोगों को पता होता है कि देश में गणतंत्र दिवस इसलिए मनाई जाती है क्योंकि इस दिन हमारा संविधान लागू हुआ था। लेकिन 26 जनवरी को इतना ऐतिहासिक बनाने के पीछे एक और वजह भी है। भारत का 26 जनवरी से एक ऐतिहासिक रिश्ता है बल्कि हमारे संविधान को भी 26 जनवरी के दिन इसलिए लागू किया गया क्योंकि 26 जनवरी के पीछे एक अनोखी कहानी है…
जब अंग्रेजों द्वारा इस बात की घोषणा की घोषणा की गई कि 15 अगस्त 1947 को भारत को आजादी दे दी जाएगी। उस दौरान भारत के पास अपना कोई संप्रभु संविधान नहीं था। भारत की शासन व्यवस्था अबतक भारत सरकार अधिनियम 1935 पर आधारित थी। इसी कड़ी में 29 अगस्त 1947 को डॉ. बीआर अंबेडकर के नेतृत्व में एक प्रारूप कमेटी का गठन किया गया। इस प्रारूप कमेटी ने 26 नवंबर 1949 को लिखित संविधान को राष्ट्रपति डॉ. राजेंद्र प्रसाद को सौंप दिया। इसी संविधान को 26 जनवरी 1950 को लागू किया गया। इसी दिन को हम गणतंत्र दिवस के रूप में मनाते हैं।
26 जनवरी ही क्यों?
26 जनवरी 1949 वह खास दिन बना जब लाहौर में कांग्रेस का अधिवेशन हुआ और पहली बार भारत को पूर्ण गणराज्य बनाने का प्रस्ताव पेश किया गया। इससे पहले तक भारतीयों की मांग सुशासन या स्वराज की थी। लेकिन 26 जनवरी 1949 के इस अधिवेशन के बाद भारतीय नेताओं ने अपना मत बदल लिया और पूर्ण स्वराज्य की मांग करने लगे। हालांकि ब्रिटिश हुकूमत द्वारा कांग्रेस के इस प्रस्ताव को ठुकरा दिया गया था। लेकिन जब भारत को आजादी मिली तो 26 जनवरी को ही संविधान लागू किया गया। इस खास दिन की याद में 26 जनवरी के दिन भारतीय संविधान को लागू किया जिसके हम इसे गणतंत्र दिवस के रूप में मनाते हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

..धन लाभ से लेकर करियर में सफलता के लिये करे ये 5 उपाय

कोलकाता : हिंदू धर्म में हर दिन किसी ना किसी भगवान को समर्पित हैं। मंगलवार के दिन संकटमोचन भगवान हनुमान जी की पूजा की जाती आगे पढ़ें »

सुबह उठते ही करें यह काम, सौभाग्य में बदल जाएगा दुर्भाग्य

कोलकाताः कई बार कड़ी मेहनत करने के बावजूद भी सफलता नहीं मिल पाता है। साथ ही बनते-बनते काम बिगड़ने से नौकरी व कारोबार हर ओर आगे पढ़ें »

ऊपर