अचानक इतने सक्रिय क्यों हो गये हैं तथागत ?

फिर ट्वीट कर अपनी ही पार्टी के नेताओं पर साधा निशाना
सन्मार्ग संवाददाता
काेलकाता : विधानसभा चुनाव के समय में इनका कोई अता-पता नहीं था, पार्टी के नेता से लेकर कार्यकर्ता चुनावी मैदान में कूदकर चुनावी लड़ाई लड़ रहे थे, लेकिन वह ना जाने कहां थे। हालांकि अब अचानक उनकी सक्रियता को लेकर कई सवाल उठने लगे हैं। ये सक्रियता भले ही ट्वीटर तक ही सीमित है, लेकिन अपनी ही पार्टी के नेताओं पर इस तरह के कटाक्ष से सभी हैरत में हैं। दरअसल, भाजपा के वरिष्ठ नेता तथागत राय ने एक बार फिर कैलाश विजयवर्गीय, शिवप्रकाश, अरविंद मेनन और दिलीप घोष पर निशाना साधा है। तथागत राय ने ट्वीट किया, ‘एक बहुत ही करीबी व्यक्ति आज रोते हुए आये और कहा कि कुछ हजार लोगों ने भाजपा के लिए काम किया था, उन्हें तृणमूल के गुण्डों ने घरों से निकाल दिया है। घर वापसी के लिए वे काफी रुपये की मांग कर रहे हैं, मैं असहाय महसूस कर रहा हूं। राज्य के नेताओं में केएसए (कैलाश विजयवर्गीय, शिवप्रकाश, अरविंद मेनन) भाग गये हैं। डी (दिलीप घोष) फोन नहीं उठा रहे हैं।’ इस संबंध में गुरुवार को तथागत राय ने कहा, ‘कार्यकर्ताओं पर हमले हो रहे हैं, बहुत लोगों को घर छोड़ने को मजबूर होना पड़ा है। बहुत लोग मेरे पास आ रहे हैं, सहायता मांग रहे हैं, लेकिन मैं क्या करूं, समझ नहीं पा रहा जिस कारण असहाय महसूस कर रहा हूं।’ पार्टी के शीर्ष नेतृत्व को इस संबंध में बताया है या नहीं, इसके जवाब में उन्होंने कहा, ‘मैंने मौखिक तौर पर बताया है। इस बार लग रहा है कि लिखित तौर पर विस्तारित बताना होगा।’ इधर, तथागत के ट्वीट को लेकर प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा कि मैदान में उतरकर जब काम करना था तो उस समय लोग घर में बैठे हुए थे और अब केवल ट्वीट कर रहे हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

सरकार की इस योजना में करें सात रुपये निवेश, मिलेगी 5000 रुपये प्रति माह तक की पेंशन

नई दिल्लीः कोरोना काल में लगभग हर इंसान आर्थिक परेशानियों से जूझ रहा है। ऐसे में घर चलाना बेहद मुश्किल हो गया है। इसीलिए लोग आगे पढ़ें »

घर बनाने के लिए नहीं काटा आम का पेड़, उसी पर बनाया खूबसूरत आशियाना

नई दिल्ली : मकान बनाने के लिए लोग बहुत से पेड़ों का कत्ल कर देते हैं। लेकिन कुछ लोग मकान नहीं घर बनाते हैं। कुल आगे पढ़ें »

ऊपर