किसके सिर सजेगा जीत का सेहरा, आज होगा फैसला

सोनू ओझा

बालीगंज-आसनसोल नतीजा आज
बालीगंज में बाबुल और सायरा के बीच तगड़ी जंग
आसनसोल में शत्रुघ्न और अग्निमित्रा दे रहे टक्कर
 
काेलकाता : बालीगंज विधानसभा और आसनसोल लोकसभा में हुए उपचुनाव के नतीजे आज आने वाले हैं। राजनीतिक स्तर पर देखें तो दोनों ही केंद्र महत्वपूर्ण हैं। बालीगंज को लेकर कहा जाता है कि यहां तृणमूल की पकड़ काफी मजबूत है, इतनी कि राज्य के मंत्री रह चुके तृणमूल के दिवंगत नेता सुब्रत मुखर्जी यहां अपनी जीत को लेकर हमेशा से ही आश्वस्त रहते थे, वह भी मार्जिन जीत के साथ। दूसरी पार्टी को अपने जनाधार के लिए सोचना पड़ता था। उसी तरह आसनसोल लोकसभा केंद्र में भाजपा लगातार दस साल से जीतती आयी है। हैरत की बात यह रही कि आसनसोल में जो भाजपा के सांसद थे बाबुल सुप्रियो वे तृणमूल का दामन थामने के बाद बालीगंज में अपनी किस्मत विधायक की रेस में शामिल होकर आजमा रहे हैं जबकि आसनसोल में बिहारी बाबू यानी शत्रुघ्न सिन्हा को तृणमूल ने इस संसदीय समर में उतारा है। जनता की पसंद कौन होगा यह आज पता चलेगा।
बालीगंज में गिरा वोट का ग्राफ बढ़ा रहा चिंता
आंकड़ों को देखें तो इस बार पिछली बार की तुलना में वोट कम पड़े हैं। बालीगंज सीट के उपचुनाव में तो इतिहास बना है। यहां हर बार मतदान 60 प्रतिशत से ज्यादा ही रहा है जिसका ग्राफ इस बार अच्छा-खासा गिरा। आयोग से मिले आंकड़े बताते हैं कि इस बार के उपचुनाव में यहां 41.23% वोट पड़े हैं। ऐसे में राजनीतिक दलों में इसे लेकर चर्चा का माहौल गर्म है। इसकी वजह एक ओर जहां गर्मी बतायी जा रही है वहीं जानकारों की माने तो तृणमूल के उम्मीदवार से ज्यादातर मतदाता नाखुश नजर आये, आस्था सिर्फ ममता बनर्जी पर उनकी दिख रही है। जबकि माकपा की उम्मीदवार सायरा हलीम जीते न भी तो दूसरे पायदान पर लगभग अपनी जगह बनाती लग रही हैं।
बिहारी बाबू को टक्कर दे रहीं अग्निमित्रा
आसनसोल लोकसभा की बात करें तो यह एक हिन्दी बहुल क्षेत्र है। भाजपा की पकड़ यहां अच्छी मानी जाती है, जिसकी वजह से पिछली दो बार से भगवा झण्डा यहां लहराता दिखा है। इस बार के विधानसभा में भाजपा का जादू नहीं चला जिसका असर इस लोकसभा के उपचुनाव में कितना पड़ेगा, इसका फैसला आज होना है। वैसे चुनाव में तृणमूल के बिहारी बाबू ने भाजपा की अग्निमित्रा को टक्कर देने में कोई कसर नहीं छोड़ी।
ये है दोनों केंद्र में मतदान प्रतिशत
सीट-साल-मतदान प्रतिशत
आसनसोल-2019-76.61%
बालीगंज-2021-60.96 %
आसनसोल-2022-64.03%
बालीगंज-2022-41.23%

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

आज ऐसे करें शिव चतुर्दशी व्रत, जानिए इसके शुभ मुहूर्त, पूजा विधि और महत्व

कोलकाताः शिव चतुर्दशी व्रत हर महीने के कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी को किया जाता है। इसे मासिक शिवरात्रि भी कहा जाता है। इस बार ये आगे पढ़ें »

ऊपर